लाइव टीवी

'बुलबुल' के रास्‍ते आ रहा 'अम्‍फान', लेकिन 1999 के सुपर साइक्‍लोन जितना प्रचंड नहीं: IMD चीफ

News18Hindi
Updated: May 19, 2020, 1:08 AM IST
'बुलबुल' के रास्‍ते आ रहा 'अम्‍फान', लेकिन 1999 के सुपर साइक्‍लोन जितना प्रचंड नहीं: IMD चीफ
तट की ओर बढ़ अम्‍फान. File PIC

बंगाल की खाड़ी में महाचक्रवाती तूफान अम्‍फान (Amphan) के कारण 230 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति और यहां तक कि 265 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से हवा चल सकती है

  • Share this:
नई दिल्‍ली. बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवात अम्‍फान (Amphan cyclone) अब सुपर साइक्‍लोन में बदल चुका है. यह चक्रवाती तूफान 20 मई को पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्‍लादेश के हटिया से टकराएगा. इससे बचाव को लेकर हर स्‍तर पर तैयारी की जा रही है. वहीं भारतीय मौसम विभाग (IMD) के डायरेक्‍टर जनरल मृत्‍युंजय मोहापात्र ने जानकारी दी है कि चक्रवात अम्‍फान का रास्‍ता 2019 में आए बुलबुल तूफान की तरह है. लेकिन जब यह जमीन पर टकराएगा तो 1999 के सुपर साइक्‍लोन फानी के जितना प्रचंड नहीं रहेगा.

सोमवार को आईएमडी के डायरेक्‍टर जनरल मृत्‍युंजय मोहापात्रा ने जानकारी दी कि ऐसा संभव है कि 20 मई को  पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्‍लादेश के हटिया में पहुंचने के दौरान इसकी प्रचंडता कम हो जाए. उनके मुताबिक पश्चिम बंगाल के उत्‍तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना इस तूफान से अ‍त्‍यधिक प्रभावित होंगे. इस दौरान समुद्र में 4 से 6 मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं.

मोहापात्रा ने बताया कि 9 नवंबर, 2019 को पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप के पास बहुत ही भयंकर चक्रवाती तूफान बुलबुल द्वारा जमीन से टकराने के छह महीने बाद ही अम्‍फान चक्रवाती तूफान बंगाल की खाड़ी के ऊपर उत्‍पन्‍न हुआ है. सोमवार शाम तक अम्‍फान की लोकेशन पारादीप से 730 किमी दक्षिण, दीघा से 890 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और बांग्लादेश में खेपूपारा से  1,010 किमी से दूर थी.



आईएमडी चीफ के मुताबिक 'यह तूफान उच्च महासागरीय जलीय ऊर्जा और तेज हवाओं वाला है. यह केवल दूसरी बार है कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक सुपर साइक्लोन का उत्‍पन्‍न हुआ है. इससे पहले ऐसा पहला सुपर साइक्‍लोन 1999 में उत्‍पन्‍न हुआ था जो ओडिशा से टकराया था. बंगाल की खाड़ी में गर्मी की उपलब्‍धता अरब सागर की तुलना में अधिक होती है. यह चक्रवातों के निर्माण में मदद करता है.'



उन्‍होंने जानकारी दी कि अगर आप अम्‍फान के सबसे संभावित रास्‍ते को देखते हैं, तो सुंदरबन से गुजरने की दिशा दर्शाता है. 2019 में आए सुपर साइक्‍लोन फानी की तुलना में इसकी तीव्रता कम होगी, जिसमें 200 किमी प्रति घंटे की अधिकतम रफ्तार से हवाएं चली थीं.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि भीषण चक्रवाती तूफान का रूप ले चुका “अम्फान” बंगाल की खाड़ी के ऊपर और शक्तिशाली होकर धीरे-धीरे तट की तरफ बढ़ रहा है. यह अब महाचक्रवात का रूप ले चुका है. विभाग ने कहा कि यह उत्तर-उत्तरपूर्व की तरफ बढ़ेगा और तेजी से उत्तरपश्चिम बंगाल की खाड़ी पहुंचेगा और भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में दीघा (पश्चिम बंगाल में) और हटिया द्वीप (बांग्लादेश में) के बीच पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों को पार करेगा.

बंगाल की खाड़ी में महाचक्रवाती तूफान के कारण 230 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति और यहां तक कि 265 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति से हवा चल सकती है लेकिन ‘अम्फान’ 20 मई को टकराने से पहले समुद्र में धीरे-धीरे कमजोर पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान-चीन की आएगी शामत, बॉर्डर पर 450 लड़ाकू विमान तैनात करेगी वायुसेना
First published: May 18, 2020, 10:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading