कोरोना की दूसरी लहर का असर बच्चों पर, सूरत में 14 दिन के बच्चे की मौत, हरियाणा में 8% बच्चे संक्रमित

कोविड: लहर का असर बच्चों पर

कोविड: लहर का असर बच्चों पर

Coronavirus In India: कोरोना का स्ट्रेन बदला है जो पहले से ज्यादा संक्रामक है. इस बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में संक्रमित बच्चों की संख्या में इजाफा हो रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 5:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus In India) के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है. कोरोना की इस दूसरी लहर में बच्चों पर भी असर पड़ रहा है. नवजात भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं. विशेषज्ञों की मानें तो इस बार कोरोना का स्ट्रेन बदला है जो पहले से ज्यादा संक्रामक है. इस बीच देश के अलग-अलग हिस्सों में संक्रमित बच्चों की संख्या में इजाफा हो रहा है.

गुजरात स्थित अहमदाबाद, सूरत वडोदरा में कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार सूरत स्थित न्यू सिविल अस्पताल में एक 14 दिन के बच्चे की कोरोना से मौत हो गई. डॉक्टर्स ने जानकारी दी कि शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया जिसके चलते मौत हो गई. वहीं एक अन्य अस्पताल में 14 दिन का बच्चा भर्ती है.

Youtube Video


 गाजियाबाद में 130 बच्चे भर्ती
बात राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की करें तो यहां कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बच्चों पर भी इसका असर पड़ रहा है. बच्चों में कोविड का संक्रमण इतना गंभीर है कि उन्हें अस्पताल लेकर जाना पड़ रहा है. लोकनायक अस्पताल के एक अधिकारी ने जानकारी दी कि यहां कोविड संक्रमित 8 बच्चे भर्ती हैं. इसमे 8 महीने से लेकर 12 साल तक के बच्चे शामिल है. बच्चों में तेज बुखार, न्यूमोनिया, डायरिया और स्वाद गायब होने जैसे लक्षण दिख रहे हैं.

वहीं दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश गाजियाबाद में 1 मार्च से 14 अप्रैल तक 130 बच्चे कोविड संक्रमित हैं. इसमें नवजात से 17 साल के नाबालिग शामिल है. 0 से 14 से साल की उम्र तक के 97 बच्चे हैं तो वहीं 15 से 17 साल तक के 33 किशोर अलग-अलग अस्पताल में भर्ती हैं.





दूसरी ओर हरियणा में 15 मार्च से 11 अप्रैल तक के आंक़़ों पर नजर डालें तो राज्य में कुल 41,324 मामले आए और 3,445 मामले बच्चों से जुड़े हुए हैं. आंकड़ों के अनुसार कुल 8 फीसदी बच्चे बीते 26 दिनों में संक्रमित हुए है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज