• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कर चोरी के खिलाफ एक्शन में आयकर विभाग, पंजाब समेत तीन राज्यों में की छापामार कार्रवाई

कर चोरी के खिलाफ एक्शन में आयकर विभाग, पंजाब समेत तीन राज्यों में की छापामार कार्रवाई

आयकर विभाग का सर्च ऑपरेशन फिलहाल जारी है और कंपनी के दफ्तरों पर जांच चल रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

आयकर विभाग का सर्च ऑपरेशन फिलहाल जारी है और कंपनी के दफ्तरों पर जांच चल रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

Income Tax Raids: सर्च के दौरान गड़बड़ी किए हुए कागजात, लूज शीट्स, डायरीज, डिजिटल सबूत बरामद हुए हैं. इनसे पता चलता है कि जिससे पता चलता है कि बेहिसाब धन का इस्तेमाल दोबारा भारतीय कंपनियों में किया जा रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

नई दिल्ली. आयकर विभाग (Income Tax) ने 18 सितंबर को टेक्सटाइल के व्यापार से जुड़े एक बड़े कारोबारी संस्थान के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की थी. दिल्ली, पंजाब और पश्चिम बंगाल में की गई इस कार्रवाई में विभाग को कई अहम दस्तावेज मिले थे. खबर है कि समूह तकरीबन 350 करोड़ रुपए का फंड विदेशी एकाउंट्स में जो नगदी रखे था और शेल कंपनियों के जरिए अपने बिजनेस में लगा रहा था.

सर्च के दौरान गड़बड़ी किए हुए कागजात, लूज शीट्स, डायरीज, डिजिटल सबूत बरामद हुए हैं. इनसे पता चलता है कि जिससे पता चलता है कि अनकाउंटेड फंड का इस्तेमाल दोबारा भारतीय कंपनियों में किया जा रहा था. जांच के दौरान आयकर विभाग को विदेश की बैंकों में मौजूद समूह के कई खातों की जानकारी भी हाथ लगी है. समूह टेक्सटाइल के अलावा फिलामेंट यार्न के क्षेत्र में भी काम करता था और इसके आधिकारिक दफ्तर दिल्ली, पंजाब और कोलकाता में हैं.

इनकी मॉडस थी कि विदेशी फंडिग को शेयर्स में बदलते थे. विदेशी कंपनियों और ट्रस्ट के बेहिसाब धन को मैनेज करने के लिए मैनेजमेंट फीस ली जाती थी. अभी तक कि जांच में बोगस खर्चे को दिखाकर 100 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया गया और टैक्स की चोरी की गई. विभाग का सर्च ऑपरेशन फिलहाल जारी है और कंपनी के दफ्तरों पर जांच चल रही है.

अनिल देशमुख मामला: 17 करोड़ रुपये की छुपी हुई आय का पता लगा
महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और उनके परिजनों से संबंधित संस्थानों पर हाल में छापेमारी के बाद आयकर विभाग ने 17 करोड़ रुपये की ‘आय छिपाने’ का पता लगाया है. आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि आयकर विभाग ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता से जुड़े नागपुर स्थित एक न्यास में वित्तीय गड़बड़ियों का भी पता लगाया है जो तीन शैक्षणिक संस्थान चलाता है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा, ‘तलाशी के दौरान मिले साक्ष्यों से साफ पता चलता है कि 17 करोड़ रुपये की आय छुपाई गयी थी.’

हालांकि, सीबीडीटी ने कहा कि 17 सितंबर को ‘नागपुर की एक प्रमुख सार्वजनिक हस्ती और उनके परिजनों के’ नागपुर, मुंबई, दिल्ली और कोलकाता स्थित 30 ठिकानों पर छापेमारी की गई, आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि यह कार्रवाई देशमुख के विरुद्ध की गई थी. तलाशी के दौरान पाए गए कई बैंक लॉकरों पर निषेधात्मक आदेश लागू किया गया है. महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री 71 वर्षीय देशमुख पर धन शोधन समेत अन्य मामले दर्ज हैं जिनकी सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय जांच कर रहे हैं.

(भाषा इनपुट के साथ)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज