तेलंगाना में बीजेपी के चुनाव घोषणापत्र में हर साल एक लाख गाय मुफ्त बांटने का वादा

बीजेपी के घोषणापत्र में राज्य परिवहन की बसों पर त्योहारों के समय अधिभार हटाने और सबरीमला सहित मंदिरों की यात्रा पर जाने वालों को मुफ्त परिवहन मुहैया करने का प्रस्ताव किया गया है.

भाषा
Updated: November 10, 2018, 7:43 PM IST
तेलंगाना में बीजेपी के चुनाव घोषणापत्र में हर साल एक लाख गाय मुफ्त बांटने का वादा
प्रतीकात्मक - AP
भाषा
Updated: November 10, 2018, 7:43 PM IST
बीजेपी ने तेलंगाना में सात दिसंबर को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए अपने घोषणापत्र में हर साल एक लाख गाय मुफ्त बांटने का वादा किया है. बीजेपी की चुनाव घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष एनवीएसएस प्रभाकर ने यहां शनिवार को कहा कि गांवों में त्योहारों और अन्य अवसरों पर उन लोगों को गायें बांटे जाने का प्रस्ताव है, जो इसकी मांग करेंगे.

हाल ही में भंग की गई राज्य विधानसभा में विधायक रहे प्रभाकर ने कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था जैसे क्षेत्रों में गायों की उपयोगिता गिनाते हुए कहा कि 'एक अन्य प्रस्ताव लघु - 'भारत भाषायी कल्याण बोर्ड स्थापित करने का है.'

यह भी पढ़ें:  तेलंगाना में TRS नेता की पत्थरों से पीट-पीटकर हत्या, माहौल तनावपूर्ण

उन्होंने कहा कि बोर्ड अन्य राज्यों से आजीविका की तलाश में हैदराबाद आने वाले भाषायी अल्पसंख्यकों के कल्याण का ध्यान रखेगा. चुनाव घोषणापत्र औपचारिक रूप से अगले हफ्ते जारी किए जाने की संभावना है. घोषणापत्र समिति ने इससे पहले शराब की बिक्री का नियमन करने का प्रस्ताव करते हुए दावा किया था कि इसकी बेरोकटोक उपलब्धता और उपभोग ने कई सामाजिक समस्याएं और कानून व्यवस्था की समस्या पैदा की है.

यह भी पढ़ें:  तेलंगाना विधानसभा चुनाव की अधिसूचना 12 नवंबर को होगा जारी: मुख्य निर्वाचन अधिकारी

घोषणापत्र में राज्य परिवहन की बसों पर त्योहारों के समय अधिभार हटाने और सबरीमला सहित मंदिरों की यात्रा पर जाने वालों को मुफ्त परिवहन मुहैया करने का प्रस्ताव किया गया है.

घोषणापत्र समिति ने पेट्रोल और डीजल पर कर में पूर्ण छूट, प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले युवाओं को मुफ्त ऑनलाइन एवं ऑफलाइन कोचिंग और प्रति परिवार हर महीने छह रूपये में सुरक्षित पेयजल मुहैया करने जैसे अन्य प्रस्ताव किए हैं.
Loading...
यह भी पढ़ें:   तेलंगाना के मंत्री बोले- थर्ड फ्रंट की कोशिशें होंगी तेज, 2019 में नहीं करेंगे BJP को सपोर्ट
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर