Delhi: कोरोना की दूसरी लहर में सिर्फ डेढ़ माह में 11,795 लोगों की मौत, 2020 में भी नहीं हुईं थीं इतनी मौतें!

दिल्ली में अब तक 22,831 लोग कोरोना की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं. (File Photo)

दिल्ली में अब तक 22,831 लोग कोरोना की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं. (File Photo)

Delhi COVID Deaths: हैरान करने वाली बात यह है कि सिर्फ 1 अप्रैल से 21 मई, 2021 के बीच में ही 11,795 लोगों की जान चली गई. यानी कोरोना ने इस डेढ़ माह से ज्यादा के समय में पूरा तांडव मचाया है. दिल्ली सरकार के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो 2020 में आई कोरोना की पहली लहर में सिर्फ 11,000 के आसपास लोगों की जान गई थी.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) ‍में कोरोना (Corona) का कहर लगातार जारी है. डेढ़ माह में कुल इतनी मौतें (Deaths) हो गई जितनी पिछले 1 साल में भी कोरोना की वजह से नहीं हुई थी. दिल्ली में अब तक 22,831 लोग कोरोना की वजह से अपनी जान गंवा चुके हैं.

हैरान करने वाली बात यह है कि सिर्फ 1 अप्रैल से 21 मई, 2021 के बीच में ही 11,795 लोगों की जान चली गई. यानी कोरोना ने इस डेढ़ माह से ज्यादा के समय में पूरा तांडव मचाया है.

दिल्ली सरकार (Delhi Government) के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो 2020 में आई कोरोना की पहली लहर में सिर्फ 11,000 के आसपास लोगों की जान गई थी. लेकिन 2020 के बाद 2021 में कोरोना का कहर कितना जबरदस्त रहा है. यह दिल्ली सरकार के आंकड़ों से सहज ही लगाया जा सकता है.

खासकर 1 अप्रैल से 21 मई के बीच में लोगों ने बड़ी संख्या में अपनी जान गंवाई है. अभी हर रोज सैकड़ों लोग अपनी जान गंवा रहे हैं. लेकिन अभी यह कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. कोरोना के मामले भले ही धीरे-धीरे कम हो रहे हैं और पॉजिटिविटी रेट भी हर रोज रिकॉर्ड होने वाला 5 फ़ीसदी से नीचे आ चुका है. लेकिन मौतों का ग्राफ में अभी भी 200 के उपर हर रोज रिकॉर्ड किया जा रहा है.
अप्रैल के 15 दिनों में ही 516 लोगों ने गंवाई जान 

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों की बात की जाए तो 21 मई को भी 252 लोगों की जान कोरोना की वजह से गई है. वहीं, 1 अप्रैल से मौतों के आंकड़ों में लगातार दर्ज की गई बढ़ोतरी की बात की जाए तो 15 दिनों के भीतर ही 516 लोग अपनी जान गंवा चुके थे.

15-30 अप्रैल के बीच 4595 लोगों की जान गई



इसके बाद कोरोना का तांडव और तेजी से बढ़ता गया और पूरा सिस्टम फेल होता गया. 15 अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच 4595 लोगों ने अपनी जान गंवाई है.अगर बात करें अप्रैल माह की तो कुल 5111 लोगों ने 1 माह के दौरान अपनी जान गंवाई है.

मौतों का आंकड़ा जो 1 अप्रैल को 11,036 था. वह बढ़कर 15 अप्रैल को 11,652 तो 30 अप्रैल को 16,147 पहुंच गया. यानी 15 से 30 अप्रैल के बीच में और ज्यादा तेजी से कोरोना के मरीजों की मौतें हुई हैं जोकि 4,595 रिकॉर्ड की गई हैं.

1 से 21 मई तक 6,684 लोगों की हुई मौत

हैरान और परेशान करने वाली बात यह है कि कोरोना भले ही धीरे-धीरे कमजोर पड़ रहा हो, लेकिन मामलों में गिरावट के बावजूद मौतों के आंकड़े में अभी कम नहीं हुए हैं. 1 मई से 21 मई तक की बात की जाए तो 6,684 लोगों की मौत हुई है.

अभी भी हो रही हर रोज 250 से 300 मरीजों की  मौत

हर रोज 250 से 300 लोग अभी भी अपनी जान कोरोना की वजह से गंवा रहे हैं. सरकार भले ही कोरोना के मामलों में कमी आने को अच्छा मान रही हो, लेकिन उसके लिए मौतों के आंकड़ों में कमी नहीं आना एक बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है.

कोरोना मामलों में मृत्यु दर 1.62 पर्सेंट

बताते चलें कि दिल्ली में कोरोना मामलों में मृत्यु दर 1.62 पर्सेंट बनी हुई है. 21 मई को भी 252 लोगों की मौत हुई थी. शुक्रवार को 24 घंटे में, 3009 पॉजिटिव मामले आने से पॉजिटिविटी रेट 5% से घटकर 4.76 फीसदी रिकॉर्ड किया गया.होम आइसोलेशन में वर्तमान में 20,673 मरीजों का इलाज चल रहा है. वहीं, कंटेनमेंट जोन की संख्या 50,074 है.

समग्र पॉजिटिव मामलों की बात करें तो इनकी संख्या 14,12,959 हो चुकी है. इनमें से 13,54,445 मरीज रिकवर/डिस्चार्ज/माइग्रेट हो चुके हैं. समग्र पॉजिटिविटी रेट दिल्ली में अब से 1.6 फीसदी हो चुका है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज