होम /न्यूज /राष्ट्र /राकेश अस्‍थाना रिश्‍वत केस में CBI ने अपने ही अधिकारी को किया गिरफ्तार

राकेश अस्‍थाना रिश्‍वत केस में CBI ने अपने ही अधिकारी को किया गिरफ्तार

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि देवेंद्र कुमार मीट कारोबारी मोईन कुरैशी के खिलाफ चल रहे मामले में जांच अधिकारी थे. उन्‍हें सतीश सना के बयान दर्ज करने में जालसाजी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि देवेंद्र कुमार मीट कारोबारी मोईन कुरैशी के खिलाफ चल रहे मामले में जांच अधिकारी थे. उन्‍हें सतीश सना के बयान दर्ज करने में जालसाजी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि देवेंद्र कुमार मीट कारोबारी मोईन कुरैशी के खिलाफ चल रहे मामले में जांच अधिकारी थे. उन्‍हे ...अधिक पढ़ें

    सीबीआई ने अपने विशेष निदेशक और एजेंसी में नंबर दो की हैसियत रखने वाले राकेश अस्थाना से जुड़े रिश्वतखोरी के आरोपों के सिलसिले में अपने पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया है. सीबीआई अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि देवेंद्र कुमार मीट कारोबारी मोईन कुरैशी के खिलाफ चल रहे मामले में जांच अधिकारी थे. उन्‍हें सतीश साना के बयान दर्ज करने में जालसाजी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

    अधिकारियों के अनुसार साना ने मामले में राहत पाने के लिए कथित तौर पर रिश्वत दी थी. उन्होंने दावा किया, ऐसा आरोप है कि साना का बयान कथित तौर पर 26 सितंबर 2018 को अस्थाना के नेतृत्व वाली जांच टीम द्वारा दर्ज किया गया. लेकिन सीबीआई की जांच में सामने आया कि उस दिन साना हैदराबाद में थे.

    अपने बयान में साना ने कहा था कि उन्‍होंने इस साल जून में अपने मामले के बारे में तेलूगु देशम पार्टी के राज्‍यसभा सांसद सीएम रमेश से बात की थी. उन्‍होंने सीबीआई निदेशक से बात करने के बाद भरोसा दिलाया था कि उन्‍हें (साना) फिर से नहीं बुलाया जाएगा.

    साना ने संभवत कहा है, 'जून के बाद से मुझे सीबीआई ने नहीं बुलाया. मुझे ऐसा लगा कि मेरे खिलाफ जांच पूरी हो गई.' सीबीआई ने अब आरोप लगाया है कि कुमार ने उसके बयान में हेरफेर किया था ताकि सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ अस्थाना द्वारा सीवीसी में लगाए गए आरोपों की पुष्टि हो सके.

    अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी अस्थाना नीत विशेष जांच दल के अन्य सदस्यों की कथित भूमिका की भी जांच कर रही है. एजेंसी ने एक अभूतपूर्व कदम के तहत अस्थाना के खिलाफ रिश्वत का मामला दर्ज किया है. अस्थाना ने 24 अगस्त 2018 को सीबीआई निदेशक वर्मा के खिलाफ शिकायत की थी कि उन्होंने साना से दो करोड़ रुपये की रिश्वत ली थी ताकि उसे मामले में राहत दी जा सके.

    (भाषा इनपुट के साथ) 

    Tags: CBI, Central Bureau of Investigation

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें