लाइव टीवी

जम्मू-कश्मीर: NC नेताओं ने फारूक-उमर को रिहा न करने पर लोकल चुनाव न लड़ने की कही बात

News18Hindi
Updated: October 6, 2019, 6:01 PM IST
जम्मू-कश्मीर: NC नेताओं ने फारूक-उमर को रिहा न करने पर लोकल चुनाव न लड़ने की कही बात
नेशनल कॉन्फ्रेंस के 15 नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने जम्मू से श्रीनगर पहुंचकर फारूक से मुलाकात की.

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद करीब दो महीने से 81 वर्षीय फारूक अब्दुल्ला ((Farooq Abdullah)) श्रीनगर स्थित अपने आवास में नजरबंद हैं, वहीं उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) को स्टेट गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2019, 6:01 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) से जम्मू के नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के जम्मू प्रांत के प्रमुख देविंदर सिंह राणा के नेतृत्व में 15 नेताओं का प्रतिनिधिमंडल रविवार को श्रीनगर स्थित उनके आवास पहुंचा.

दरअसल पार्टी ने गुरुवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक से नेकां अध्यक्ष फारूक व उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) से मुलाकात की इजाजत मांगी थी. राज्यपाल से इजाजत मिलने के बाद पार्टी के 15 नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने जम्मू से श्रीनगर पहुंचकर फारूक से मुलाकात की. इसके बाद प्रतिनिधिमंडल ने उमर अब्दुल्ला से भी मुलाकात की.

शेख अब्दुल्ला के सपने को मजबूत करने का वचन लिया
वहीं फारूक अब्दुल्ला से इस मुलाकात के बाद पार्टी के प्रवक्ता ने कहा, 'बैठक में सर्वसम्मति से पारित प्रस्ताव में नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेताओं ने सांप्रदायिक एकता और सद्भाव को मजबूत करने के शेर-ए-कश्मीर शेख मोहम्मद अब्दुल्ला के सपने को मजबूत करने का वचन लिया.'


हिरासत में हैं घाटी के बड़े नेता
बता दें कि राज्य से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के समय से यानी करीब दो महीने से 81 वर्षीय फारूक अब्दुल्ला श्रीनगर स्थित अपने आवास में नजरबंद हैं. वहीं उमर अब्दुल्ला को स्टेट गेस्ट हाउस में हिरासत में रखा गया है. ऐसे में पार्टी नेताओं का 15 सदस्यीय शिष्टमंडल जम्मू प्रांत के पार्टी अध्यक्ष देवेंद्र सिंह राणा के नेतृत्व में फारूक और उमर से मिलने के लिए श्रीनगर पहुंचा. इस मुलाकात के बाद की तस्वीरों में फारूक मुस्कुराते हुए दिख रहे हैं.

वहीं उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) को फिलहाल हरि निवास में नजरबंद किया गया है. यहां पर करीब आधे घंटे के लिए उनकी पार्टी के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात हुई. मुलाकात के बाद उमर पार्टी के प्रतिनिधमंडल के सात सेल्फी लेते देखे गए.

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के छोड़े जाने के बाद ही चुनाव लड़ेगी पार्टी
इस मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत में पार्टी के नेताओं ने ब्लॉक डेवलपमेंट कमेटी के चुनावों में हिस्सा लेने के सवाल पर कहा, देखिया यहां पर पूरी तरह से बंद है. अगर राजनीतिक प्रक्रिया को शुरू करना है तो इन सदस्यों को छोड़ना होगा. उनके कहने से साफ था कि पार्टी बिना इन नेताओं को छोड़े आने वाले ब्लॉक डेवलपमेंट चुनावों में हिस्सा नहीं लेगी.

उन्होंने अपनी ही बात को दोहराते हुए कहा कि इन नेताओं के छूट जाने के बाद ही पार्टी की वर्किंग कमेटी की मीटिंग होगी और भविष्य की रणनीति तय की जाएगी.

सरकार ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद लोन सहित कश्मीर के अधिकांश राजनीतिक नेतृत्व को भी हिरासत में लिया हुआ है, ताकि धारा 370 को हटाने को लेकर प्रतिरोध का सामना न करना पड़े. नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रवक्ता मंटू ने कहा कि पार्टी के दोनों बड़े नेता से मिलने का फैसला दो दिन पहले जम्मू प्रांत के वरिष्ठ पदाधिकारियों और जिला अध्यक्षों की एक बैठक में लिया गया था.

ये भी पढ़ें-

कश्मीर पर पाकिस्तान का साथ देने वाले तुर्की-मलेशिया को भारत ने सुनाई खरी खरी, कही ये बड़ी बात
इमरान खान ने LoC पार कर रहे घुसपैठियों को बताया मददगार, कही ये बात...
कश्मीर, गोडसे और राष्ट्रवाद पर दिग्गी राजा ने भाजपा को घेरा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 6, 2019, 2:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर