जम्मू कश्मीर: पिछले 6 महीने में मारे गए आतंकियों में 82% स्थानीय नागरिक

इस साल पहले 6 महीनों में 76 युवाओं ने आतंक का हाथ थामा. 39 लोग हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुए. जबकि यहां के 21 युवा जैश ए मोहम्मद का हिस्सा बने.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 8:43 AM IST
जम्मू कश्मीर: पिछले 6 महीने में मारे गए आतंकियों में 82% स्थानीय नागरिक
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 8:43 AM IST
जम्मू-कश्मीर में पिछले 6 महीने में सुरक्षाबलों ने 121 आतंकियों को मार गिराया. इसमें से सिर्फ 21 आतंकी पाकिस्तान से थे यानी बाक़ी बचे सौ आंतकी घाटी के स्थानीय नागरिक थे. ज़्यादातर आतंकियों को दक्षिण कश्मीर में एनकाउंटर मारा गया. पुलवामा में 36 आतंकियों को मारा गया. शोपियां में 34 और अनंतनाग ज़िले में सुरक्षाबलों ने 16 आतंकियों को ढेर किया.

स्थानीय लोग बन रहे हैं आतंकी

अंग्रेज़ी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक साल 2019 में भी स्थानीय लोगों के आतंकी संगठनों से जुड़ने में कोई कमी नहीं आई. इस साल पहले 6 महीनों में 76 युवाओं ने आतंक का हाथ थामा. 39 लोग हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुए. जबकि यहां के 21 युवा जैश ए मोहम्मद का हिस्सा बने. इसमें से ज़्यादातर युवा दक्षिण कश्मीर से थे. इस साल जनवरी से जून के बीच पुलवामा के 20 युवा आंतकी बने. इसके अलावा शोपियां से 15 और अनंतनाग से 13 युवाओं ने आंतक का हाथ थामा.

दक्षिण कश्मीर सबसे ज़्यादा प्रभावित

सरकारी दस्तावेजों के मुताबिक दक्षिण कश्मीर में आतंकी घटनाओं में कोई कमी नहीं आई है. चिंता की बात ये है कि इसमें ज़्यादातर स्थानीय युवा हैं. पिछले छह महीनों में यहां करीब सौ आतंकी घटानाएं हुई है. घाटी में पिछले 6 महीनों में 228 पत्थरबाज़ी की घटना हुई है.

ये भी पढ़ें:

कैफे कॉफी डे के मालिक लापता, एसएम कृष्णा के हैं दामाद
Loading...

रेलवे ने की 3 लाख कर्मचारियों की छंटनी की तैयारी!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 8:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...