लाइव टीवी

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस: इन 7 कड़ियों को जोड़-जोड़कर आरोपियों तक पहुंच गई पुलिस

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 11:29 AM IST
हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस: इन 7 कड़ियों को जोड़-जोड़कर आरोपियों तक पहुंच गई पुलिस
पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर के परिवार के लोगों को घटनास्थल पर बुलाया. अधजले स्कार्फ और गोल्ड पेंडेंट से डॉक्टर के शव की पहचान हुई.

हैदराबाद (Hyderabad) में वेटेनरी डॉक्‍टर गैंगेरप और हत्या के मामले (Hyderabad Doctor Gangrape Murder Case) में कोर्ट ने चारों आरोपियों को 14 दिन की न्‍यायिक हिरासत (Judicial Remand) में भेज दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 11:29 AM IST
  • Share this:
हैदराबाद. महिला वेटनरी डॉक्टर (Veterinary Doctor) से गैंगरेप के बाद हत्या और फिर लाश को जला देने के मामले में पुलिस के लिए आरोपियों को पकड़ना आसान नहीं था. हालांकि 48 घंटे से भी कम समय में पुलिस ने चारों को धर दबोचा. आइए सिलसिलेवार ढंग से एक नज़र डालते हैं कि आखिरी कैसे पुलिस की टीम अपराधी तक पहुंच गई.

1. महिला डॉक्टर की बहन ने पुलिस को बताया कि उनकी बहन की स्कूटी का टायर पंक्चर हो गया था, इसलिए वह टोल प्लाजा के पास फंस गई थी. पुलिस ने इसी बयान के आधार पर सबसे पहले टोल प्लाज़ा के पास टायर मैकेनिक की तलाश शुरू की. जैसे ही पुलिस मैकेनिक के पास पहुंची उसने बता दिया कि उसके पास लाल रंग की एक स्कूटी टायर ठीक कराने के लिए आई थी. उसने ये भी बताया कि वो रॉन्ग साइड (उल्टी तरफ से) से स्कूटी को लेकर आए थे.

2.  पुलिस को रोड की दूसरी तरफ एक फैक्ट्री दिखी, जहां बाहर की तरफ सीसीटीवी लगी थी. तुरंत ही इन फुटेज को खंगाला गया. यहां देखा गया कि दो आरोपी स्कूटी के साथ आगे बढ़ रहे थे. एक दूसरे फुटेज में काफी देर से खड़ा एक ट्रक भी दिखा, लेकिन अंधेरा होने के चलते ट्रक के नंबर का पता नहीं चला.

3. पुलिस ने सीसीटीवी के इसी फुटेज को 6-7 घंटे पीछे करके देखा तो पता चला कि ये ट्रक दिन में ही वहां पार्क किया गया था. ट्रक का नंबर मिलते ही पुलिस ने इसके मालिक की तलाश शुरू की. पता चला कि इसका मालिक श्रीनिवास रेड्डी है, जिसके पास 15 ट्रक थे.

4. ट्रक के मालिक को सीसीटीवी के फुटेज दिखाए गए. उसने उस संदिग्ध को नहीं पहचाना, जो स्कूटी लेकर आगे बढ़ रहा था. लेकिन मालिक ने ये जरूर बताया कि उस ट्रक को मोहम्मद आरिफ नाम का ड्राइवर चलाता है.

5. इस बीच पुलिस की एक दूसरी टीम ने पास के एक पेट्रोल पंप के सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया. यहां फिर वहीं संदिग्ध दिखा जो स्कूटी को मैकेनिक के पास लेकर जा रहा था. ये शख्स यहां एक बोतल में पेट्रोल या डीज़ल खरीद रहा था.

6. पुलिस की टीम ने मोबाइल के टावर लोकेशन की मदद से आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. पुलिस ने ट्रक ड्राइवर आरिफ को भी कॉल किया, जिसका नंबर उसके मालिक ने दिया था. इन दोनों की जानकारी के आधार पर पुलिस की टीम आरोपियों तक पहुंच गई.
Loading...

7. इस बीच टोल प्लाजा से करीब 30 किमी दूर एक किसान ने पुलिस को सूचना दी कि उसने एक जला हुआ शव देखा है. पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर के परिवार के लोगों को घटनास्थल पर बुलाया. अधजले स्कार्फ और गोल्ड पेंडेंट से डॉक्टर के शव की पहचान हुई.

 

 

ये भी पढ़ें: हैदराबाद गैंगरप: आरोपी की मां बोलीं- मेरे बेटे को भी ज़िंदा जला दो

झगड़े के बाद घर से भागी थी कर्नाटक की महिला, ट्रक ड्राइवर ने किया रेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 10:01 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...