लाइव टीवी

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस: पुलिस ने महिला डॉक्टर को दिया नया नाम, कहा- उन्हें 'दिशा' कहकर बुलाये

News18Hindi
Updated: December 2, 2019, 11:45 AM IST
हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस: पुलिस ने महिला डॉक्टर को दिया नया नाम, कहा- उन्हें 'दिशा' कहकर बुलाये
पीड़िता के लिए लोग तुरंत न्याय की मांग कर रहे हैं

साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जानर (VC Sajjanar) ने रविवार को मीडिया से अपील कि है कि वे रेप पीड़िता महिला डॉक्टर को असली नाम से नहीं, बल्कि 'दिशा' कहकर पुकारें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2019, 11:45 AM IST
  • Share this:
हैदराबाद. महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप और मर्डर (Gang Rape and Murder) ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है. हैदराबाद (Hyderabad) के साथ-साथ देश के कई शहरों में लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. लोग आरोपी को तुरंत सज़ा देने की मांग कर रहे हैं. इस बीच हैदराबाद की पुलिस ने महिला डॉक्टर को एक नया नाम दिया है. पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वे उन्हें 'दिशा' कहकर बुलाये. कहा जा रहा है कि पुलिस अधिकारियों ने परिवारवालों को ये नाम सुझाया, जिस पर वो राजी हो गए.

'जस्टिस फॉर दिशा'
साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जानर ने रविवार को मीडिया से अपील कि है कि वह उन्हें असली नाम से न बुलाये, बल्कि उन्हें 'दिशा' कहकर पुकारें. देशभर में इन दिनों महिला डॉक्टर को न्याय दिलाने के लिए एक मुहिम चलाई जा रही है. पुलिस का कहना है कि इस मुहिम को अब 'जस्टिस फॉर दिशा' के नाम से चलाया जाए.

असली नाम का इस्तेमाल नहीं होता

बता दें कि रेप से जुड़े मामलों में पीड़िता का नाम उजागर प्रतिबंधित है. मीडिया में इनका बदला हुआ नाम इस्तेमाल होता है. इसके अलावा पीड़िता की फोटो भी नहीं लगाई जाती. हालांकि पिछले कुछ दिनों से आम लोग न्याय के लिए चलाए जा रहे मुहिम में उनका असली नाम का ही इस्तेमाल कर रहे थे. अब पुलिस ने इन सबसे अनुरोध किया है कि वो 'जस्टिस फॉर दिशा' नाम से कैंपेन चलाये.

फर्जी मैसेज की बाढ़
इस बीच इस मामले को लेकर कुछ ऐसे फर्जी मैसेज वायरल किए जा रहे हैं, जिसका इस घटना से कोई संबंध नहीं है. एक वायरल मैसेज में कहा जा रहा है कि किसी भी इमरजेंसी की हालत में महिलाएं 9833312222 नंबर पर मिस कॉल दें. मिस कॉल करते ही पुलिस, महिला के पास पहुंच जाएगी. इस वायरल मैसेज की जांच करने के बाद सामने आया कि यह पूरी तरह से फर्जी है.
Loading...


ये भी पढ़ें: 'सेठ जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों के घरों में पत्‍थर नहीं फेंकते'

केवल ₹50 हजार में शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस, मोदी सरकार दे रही मौका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 10:34 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...