होम /न्यूज /राष्ट्र /दो महीने से बिना कैबिनेट के तेलंगाना, मंत्री बनने को कैलेंडर देख रहे विधायक

दो महीने से बिना कैबिनेट के तेलंगाना, मंत्री बनने को कैलेंडर देख रहे विधायक

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (फाइल फोटो)

राज्य विधानसभा सचिव और ज्योतिषी नरसिम्हा चेरुवु ने न्यूज 18 से कहा, 'केसीआर 15 फरवरी के बाद कैबिनेट विस्तार की घोषणा कर ...अधिक पढ़ें

  • News18.com
  • Last Updated :

    (पीवी रमन कुमार)

    तेलंगाना राष्ट्रीय समिति (टीआरएस) को विधानसभा चुनाव में जीत हासिल हुए दो महीने हो चुके हैं. लेकिन मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने अभी तक मंत्रिमंडल विस्तार नहीं किया है. तेलंगाना कैबिनेट में अभी तक केवल दो ही मंत्री हैं. खुद केसीआर और गृहमंत्री महमूद अली. विधायक पोचारम श्रीनिवास रेड्डी का तेलंगाना विधानसभा सभापति (स्पीकर) के लिए निर्विरोध चयन किया गया था. क्योंकि यह एक संवैधानिक दायित्व है.

    स्पीकर (पोचराम श्रीनिवास रेड्डी) के पद के लिए केवल एक और बड़ी नियुक्ति की गई थी क्योंकि यह एक संवैधानिक दायित्व है. जबकि मैरेड्डी श्रीनिवास रेड्डी को नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष नामित किया गया था. वहां के स्थानीय नेताओं का मानना है कि केसीआर का भगवान और ज्योतिष में दृढ विश्वास हैं. वह शुभ समय की प्रतीक्षा कर रहे हैं. वह किसी शुभ तिथि का निर्णय करके मंत्रालय के गठन की घोषणा करेंगे.

    ऐसी खबर थी कि मुख्यमंत्री ने पहले माघ मास में 'सहस्र चंडी यज्ञ' के दौरान गठन के बारे में सोचा. फिर ऐसी अटकलें लगाई गईं कि यह घोषणा 5 फरवरी को बसंत पंचमी के शुभ दिन होगी. हालांकि सभी आशंकाएं धराशायी हो गईं और शुभ 'रथ सप्तमी' को भी ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई.

    राज्य विधानसभा सचिव और ज्योतिषी नरसिम्हा चेरुवु ने न्यूज 18 से कहा, 'केसीआर 15 फरवरी के बाद कैबिनेट विस्तार की घोषणा कर सकते हैं. ग्रह चक्रों की स्थिति के अनुसार 'पूर्णिमा' इसके लिए मजबूत स्थिति है.'

    हालांकि सूत्रों के अनुसार केसीआर इससे अलग ही रणनीति पर काम कर रहे हैं. कुछ समय बाद आम चुनाव आने वाला है. टीआरएस प्रमुख अपने कुछ वरिष्ठ नेताओं को संसद सदस्य बनाने चाहते हैं. इसके लिए वह रणनीति पर काम कर रहे हैं. वह चुनाव में हारे नेताओं को आम चुनाव के माध्यम से संसद में भेजने की तैयारी कर रहे हैं.

    मुख्यमंत्री आम चुनाव से पहले मंत्रिमंडल में केवल सात-आठ मंत्रियों को ही नियुक्त करना चाहते हैं और चुनाव खत्म होने के बाद बाकि का विस्तार करेंगे.

    ये भी पढें: PM मोदी परोस रहे थे खाना, बच्ची बोली- हम तो खाकर आए हैं… VIDEO VIRAL

    टीआरएस के एक वरिष्ठ नेता ने न्यूज18 को बताया, 'मुख्यमंत्री की अपनी रणनीति होती है. उसे कई मुद्दों पर काम करना होता है. विस्तार में जल्दी क्या है? राज्य में सब कुछ सुचारू रूप से चल रहा है. केसीआर ने कभी भी मंत्रिमंडल विस्तार के तारीख की घोषणा नहीं की. लेकिन मीडिया अटकलों के नाम पर लोगों को भ्रमित कर रहा है. उचित समय आने पर केसीआर इसपर फैसला लेंगे.'

     ये भी पढें: VIDEO : लोकसभा चुनाव 2019 : बीजेपी दफ्तर की सुझाव पेटी में किसने की शरारत?

    हालांकि एक अन्य नेता ने न्यूज18 से कहा, 'देरी ने कई वरिष्ठ नेताओं की चिंता और पीड़ा को बढ़ा दिया है. हम मुख्यमंत्री के फैसले का इंतजार कर रहे हैं.' वहीं सरकार को वार्षिक बजट पेश करने के लिए विधानसभा का सत्र शुरू करना है. अब सवाल यह है कि जब कोई वित्त मंत्री ही न हो तो बजट को किस तरह से पेश किया जाएगा. विशेषज्ञों के अनुसार, जिन विभागों को आवंटित नहीं किया गया है, उन्हें मुख्यमंत्री अपने हाथ में लेकर बजट पेश कर सकते हैं.

    एक सेवानिवृत्त अधिकारी चंद्र रेड्डी ने कहा, 'मंत्रियों को दिन-प्रतिदिन विभागीय गतिविधियों से गुजरना पड़ता है. मुख्यमंत्री केवल विशेष मुद्दों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं. वह विभागों के हर पहलू को न देख और समझ सकते हैं. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सभी विभागों में बहुत सारी फाइलें लंबित हैं.' इस बीच कांग्रेस ने केसीआर को 'तानाशाह' करार देते हुए मंत्रिमंडल विस्तार में हो रही देरी पर निशाना साधा है. इन सबके बीच केसीआर कैबिनेट विस्तार और आम चुनाव की रणनीति बनाने के लिए अपने फार्म हाउस में समय गुजार रहे हैं.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: K Chandrashekhar Rao, Lok Sabha Election 2019, Politics, Telangana, Telangana Assembly Election 2018

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें