केरल सरकार ने वापस आए मजदूरों के लिए रखी शर्तें, अब कोरोना टेस्ट के साथ 14 दिनों का क्वारंटीन अनिवार्य

केरल सरकार ने वापस आए मजदूरों के लिए रखी शर्तें, अब कोरोना टेस्ट के साथ 14 दिनों का क्वारंटीन अनिवार्य
क्वारंटीन खत्म होने के बाद भी मजदूरों को 2 हफ्ते की निगरानी में रखा जाएगा (फोटो-AP)

Coronavirus: गाइडलाइन के मुताबिक, राज्य में जो भी ठेकेदार या कंपनी मजदूरों को लेकर आएगी उन्हें कोरोना टेस्ट (COVID-19 Test) का खर्च भी उठाना पडेगा.

  • Share this:
तिरुवनंतपुरम.  केरल में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए सरकार ने राज्य में वापस लौटने वाले प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) के लिए शर्तें रख दी हैं. अब उन्हें राज्य में लौटते ही कोरोना का रैपिड टेस्ट कराना होगा. इसके बाद उन्हें 14 दिनों के क्वारंटीन में भेज दिया जाएगा. ये दो गाइडलाइन उत्तर और उत्तर-पूर्व भारत से लौटने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए रखा गया है. बता दें कि केरल में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. यहां संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 12,000 के आंकड़े को पार कर गई है.

प्रवासी मजदूरों के लिए गाइडलाइन
गाइडलाइन के मुताबिक, राज्य में जो भी ठेकेदार या कंपनी मजदूरों को लेकर आएगी उन्हें कोरोना टेस्ट का खर्च भी उठाना पडेगा. इसके अलावा उन्हें प्रवासी मजदूरों के लिए 14 दनों के क्वारंटीन में रखने के इंतजाम भी करने पड़ेंगे. क्वारंटीन खत्म होने के बाद भी मजदूरों को 2 हफ्ते की निगरानी में रखा जाएगा. हालांकि इस दौरान वो काम कर सकते हैं. इसके अलावा मजदूरों को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में रिपोर्ट भी करना होगा.

सरकार की चिंता
अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, श्रम विभाग के सूत्रों ने कहा कि वे प्रवासी मजदूरों को लेकर परेशान हैं. एक सरकारी अधिकारी ने कहा, 'कई बड़े ठेकेदार स्पेशल बसों में मजदूरों को वापस लाने की योजना बना रहे हैं. कुछ ने पहले ही ऐसा कर लिया है और क्वारंटीन की सुविधाएं दी हैं. लेकिन प्रवासियों का एक बड़ा हिस्सा छोटे ठेकेदारों के तहत असंगठित क्षेत्र में काम करता है और वो कैंप में रहते हैं. ऐसे में ये देखना होगा कि आखिर कैसे यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता है.'



ये भी पढ़ें- विकास दुबे के खजांची जय बाजपेई को पहले पुलिस ने छोड़ा, फिर किया गिरफ्तार

लगातार बढ़ रहे हैं मामले
देश में कोरोना का सबसे पहला मामला केरल में ही आया था. करीब दो महीने पहले हालात यहां ठीक हो गए थे. लेकिन ऐसा लग रहा है कि यहां कोरोना का दूसरा दौर शुरू हो गया है. अब यहां तेजी से लगातार मामले बढ़ रहे हैं. केरल में रविवार को 13 स्वास्थ्यकर्मियों समेत कोरोना वायरस संक्रमण के 821 नए मामले सामने आए, जिसके साथ ही संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 12,000 के आंकड़े को पार कर गई. ये राज्य में अब तक एक ही दिन में सामने आए सबसे ज्यादा मामले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज