• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कोलकाता नुकसान के चलते कई प्राइवेट बसें सड़कों से नदारद, यात्रियों की बढ़ी मुश्किलें

कोलकाता नुकसान के चलते कई प्राइवेट बसें सड़कों से नदारद, यात्रियों की बढ़ी मुश्किलें

 अखिल बंगाल बस मिनिबस समन्वय समिति के महासचिव राहुल चटर्जी के अनुसार राज्य में लगभग 27 हजार निजी बसें हैं.

अखिल बंगाल बस मिनिबस समन्वय समिति के महासचिव राहुल चटर्जी के अनुसार राज्य में लगभग 27 हजार निजी बसें हैं.

Unlock1: आठ जून को अनलॉक-1 शुरू होने के बाद से ही सार्वजनिक परिवहन के अभाव के कारण यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

  • Share this:
    कोलकाता.  ईंधन के बढ़ते दामों और कोविड-19 (Coronavirus) के कारण कम यात्रियों को बिठाने की पाबंदी से हुए नुकसान के चलते कोलकाता (Kolkata) में बड़ी संख्या में निजी बसें सड़कों से नदारद हैं. ऐसे में यहां सोमवार को यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा. निजी बसों से जुड़े संगठन किराया बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. यात्रियों ने महानगर और उसके उपनगरों में कम निजी बसों के परिचालन के कारण लोगों को घर पहुंचने में काफी देरी हो रही है.

    8 जून के बाद बढ़ी मुश्किलें
    आठ जून को अनलॉक-1 शुरू होने के बाद से ही सार्वजनिक परिवहन के अभाव के कारण यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. आठ जून को अधिकतर सरकारी और निजी कार्यालय और एवं प्रतिष्ठान फिर से खोल दिये गए थे.

    किराया बढ़ाने की मांग
    शहर और जिलों में निजी बस ऑपरेटरों के सबसे बड़े संघों में से एक बस सिंडिकेट्स संयुक्त परिषद ने कहा कि मौजूदा किराया बढ़ाए जाने की जरूरत है. संघ के महासचिव तपन बनर्जी ने कहा, 'ईंधन के ऊंचे दामों और यात्रियों की संख्या सीमित रखने के सरकार के निर्देशों ने कुल मिलकर सेवाओं को चरमरा दिया है. टिकटों की इतनी बिक्री भी नहीं हो रही कि ईंधन का खर्च निकल जाए, दूसरे खर्चों की बात तो छोड़ ही दीजिये.'

    ये भी पढ़ें:- कोरोना: अपनों के इंतज़ार में 50 मरीज, घर ले जाने के लिए तैयार नहीं परिवार

    सिर्फ 25 प्रतिशत बसें
    ईंधन के दामों में केवल तीन सप्ताह के अंदर सोमवार को 22वीं बार वृद्धि हुई है. अखिल बंगाल बस मिनिबस समन्वय समिति के महासचिव राहुल चटर्जी के अनुसार राज्य में लगभग 27 हजार निजी बसें हैं. अधिकारियों ने कहा है कि बीते सप्ताह से लगभग 25 प्रतिशत बसें चल रही हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज