लाइव टीवी

12वीं बोर्ड की परीक्षा में नेहरू की नीति पर छात्रों से मांगी नकारात्मक राय, BJP ने दी सफाई

भाषा
Updated: February 24, 2020, 11:55 PM IST
12वीं बोर्ड की परीक्षा में नेहरू की नीति पर छात्रों से मांगी नकारात्मक राय, BJP ने दी सफाई
मणिपुर की 12वीं बोर्ड की परीक्षा में नेहरू को लेकर विवादित सवाल पूछे गए.

परीक्षा में दो सवाल ऐसे पूछे गए थे, जिन पर बवाल हो गया. ये दोनों प्रश्न चार-चार नंबर के थे. एक प्रश्न में पूछा गया था कि भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिह्न बनाएं. जबकि दूसरे विवादित सवाल में पूछा गया था कि भारत के निर्माण में जवाहर लाल नेहरू के चार नकारात्मक दृष्टिकोण को बताएं.

  • भाषा
  • Last Updated: February 24, 2020, 11:55 PM IST
  • Share this:
इंफाल. मणिपुर (Manipur) की बोर्ड परीक्षा में पूछे गए दो सवालों पर बवाल शुरू हो गया है. 12वीं कक्षा के राजनीतिक शास्त्र की परीक्षा में भारतीय जनता पार्टी के चुनाव चिह्न और देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) को लेकर किए गए सवाल पर कांग्रेस पार्टी ने सवाल खड़े कर दिए हैं. विपक्षी दलों ने सरकार को निशाने पर लेते हुए आरोप लगाए हैं कि ये प्रश्न छात्रों के दिमाग में एक पार्टी विशेष के लिए पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर पूछ गए थे. हालांकि मणिपुर बीजेपी ने इस मामले में सफाई दी है.

मणिपुर में बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं में राजनीतिक शास्त्र के प्रश्नपत्र में कुछ सवालों पर कांग्रेस द्वारा सवाल उठाए जाने के एक दिन बाद भाजपा ने सोमवार को कहा कि इसमें उसकी कोई भूमिका नहीं है और इस बारे में संबद्ध अधिकारियों से पूछा जाना चाहिए. उधर कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रश्न पत्र में कुछ सवालों के जरिए छात्रों में एक विशेष तरह की राजनीतिक सोच विकसित करने का प्रयास किया जा रहा है.

बीजेपी ने कहा- इससे हमारा कोई लेना-देना नहीं
भाजपा प्रवक्ता चांगथम बिजॉय ने पीटीआई-भाषा को बताया, 'सवाल सेट करने से हमारा कोई लेना देना नहीं है. सवालों के बारे में फैसला संबद्ध अधिकारी करते हैं और इस बारे में उनसे ही पूछा जाना चाहिए.' उच्चतर माध्यमिक शिक्षा (स्कूल) के अध्यक्ष एल. महेंद्र सिंह ने कहा, 'सवाल परीक्षा नियंत्रक ने 'पार्टी सिस्टम इन इंडिया' पाठ से सेट किए थे. यह पाठ बोर्ड के राजनीतिक शास्त्र के पाठ्यक्रम का हिस्सा है.' एक अधिकारी ने बताया कि इससे पहले भी इस किस्म के प्रश्न पूछे जा चुके हैं, मसलन माकपा का चिह्न बनाना या संयुक्त राष्ट्र के लोगो का चित्र बनाना आदि.



नेहरु के बारे में नकारात्मक दृष्टिकोण पूछे गए
परीक्षा में दो सवाल ऐसे पूछे गए थे, जिनपर बवाल हो गया. ये दोनों प्रश्न चार-चार नंबर के थे. एक प्रश्न में पूछा गया था कि भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिह्न बनाएं. जबकि दूसरे विवादित सवाल में पूछा गया था कि भारत के निर्माण में जवाहर लाल नेहरू के चार नकारात्मक दृष्टिकोण को बताएं. इसके बाद इन सवालों पर कांग्रेस ने हमला बोलना शुरू कर दिया. कांग्रेस नेता के. जॉय किशन ने रविवार को कहा कि 22 फरवरी के परीक्षा के प्रश्न पत्र के जरिए छात्रों में एक विशेष तरह की राजनीतिक मानसिकता विकसित करने का प्रयास किया गया. ये दोनों सवाल सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गए.

ये भी पढ़ें:

ट्रंप कर रहे ताज का दीदार, जानें कैसी है अमेरिकी प्रेसिडेंट की लव स्टोरी
राष्ट्रपति ट्रंप की वो खास टीम, जो भारत दौरे के लिए अमेरिका से आई
ट्रंप से शादी के पहले सक्सेसफुल मॉडल थीं मेलानिया, किए हैं कई बोल्ड फोटो शूट

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 10:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर