लाइव टीवी
Elec-widget

राज्यसभा में सेना की तरह दिखने वाली मार्शल की नई वर्दी पर विपक्ष ने उठाए सवाल, नायडू बोले- होगी समीक्षा

News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 7:21 PM IST
राज्यसभा में सेना की तरह दिखने वाली मार्शल की नई वर्दी पर विपक्ष ने उठाए सवाल, नायडू बोले- होगी समीक्षा
नई और पुरानी ड्रेस

राज्यसभा (Rajya Sabha) का यह 250वां सत्र है. लिहाजा इस मौके को यादगार और खास बनाने के लिए मार्शल की ड्रेस में बदलाव किए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 7:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राज्यसभा में मार्शल की नई वर्दी पर विवाद खड़ा हो गया है. राज्यसभा की कार्यवाही मंगलवार को शुरू होते ही विपक्षी दलों ने वर्दी पर सवाल उठा दिए. उनका कहना है कि मार्शल की वर्दी सेना की तरह दिख रही है. राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा है कि नई ड्रेस हर किसी से सलाह लेने के बाद तैयार की गई है. हालांकि विपक्ष के भारी हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी.



क्या है विवाद की असली वजह?
सबसे पहले इस नई ड्रेस पर सोमवार को कांग्रेस के सांसद जयराम रमेश ने सवाल उठाए थे. लेकिन उस वक्त नायडू ने उन्हें शांत रहने को कहा था. बाद में शाम को पूर्व आर्मी चीफ वेद प्रकाश मलिक ने सोशल मीडिया पर नई वर्दी पर सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि ये गैरकानूनी है और इससे सुरक्षा को लेकर भी दिक्कतें आएंगी. मलिक ने ट्वीट करते हुए लिखा कि इस सिलसिले में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को तुरंत एक्शन लेना चाहिए.

क्यों बदली ड्रेस?
सूत्रों के मुताबिक मार्शल की ड्रेस में बदलाव को लेकर फैसला छह महीने पहले लिया गया था. दरअसल राज्यसभा में लोगों को मार्शल और बाकी वार्ड स्टाफ और पहरेदार के बीच अंतर पता नहीं चलता था. ऐसे में ड्रेस बदल कर मार्शल को अलग पहचान देने की कोशिश की गई.

अलग अंदाज में मार्शल
Loading...

बता दें कि सोमवार से शुरू शीतकालीन सत्र में  कार्यवाही शुरू होने से ठीक पहले जैसे ही राज्यसभा अध्यक्ष वेंकैया नायडू सदन में आए तो हर कोई हैरान रह गया. दरअसल उनके साथ खड़े मार्शल बिल्कुल अलग अंदाज़ में दिख रहे थे.

नया और पुराना ड्रेस


क्या है ड्रेस में अंतर
पहले पुरानी ड्रेस में मार्शल बंद गला और साफा पहनते थे. लेकिन अब इनकी ड्रेस सेना की तरह दिखती है. नेवी ब्लू रंग की ड्रेस के साथ मार्शल को कैप भी दिया गया है. शीतकालीन सत्र और ग्रीष्मकालीन सत्र के अलग-अलग दो सेट दिए गए हैं. गर्मी में मार्शल के लिए नेवी ब्लू की जगह सफेद रंग का प्रावधान था.

राज्यसभा में ऐतिहासिक पल
ये  राज्यसभा का 250वां सत्र  है. राज्यसभा का पहला सेशन 1952 में हुआ था. लिहाजा इस मौके को यादगार और खास बनाने के लिए भी मार्शल की ड्रेस में बदलाव लाए गए.

ये भी पढ़ें:

कभी छोटी सी दुकान से शुरू हुई हल्दीराम, अब वीडियोकॉन को खरीदने की तैयारी में
प्रधानमंत्री की इस बात ने किया प्रभावित,नेत्रहीन होकर भी बना IAS टॉपर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 11:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com