गुजरात: घर लौटना चाहता था लॉकडाउन से परेशान प्रवासी शिल्पकार, मंदिर जाकर काट ली जीभ!

गुजरात: घर लौटना चाहता था लॉकडाउन से परेशान प्रवासी शिल्पकार, मंदिर जाकर काट ली जीभ!
पुलिस ने फिलहाल मर्डर के कारणों का खुलासा नहीं किया है. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस ने उन खबरों से इंकार किया है कि शिल्पकार ने मंदिर में देवी को ‘चढ़ावा’ चढ़ाने के लिए अपनी जीभ काटी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 7:23 AM IST
  • Share this:
पालनपुर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के रहने वाले एक प्रवासी शिल्पकार (Migrant Craftsman) ने गुजरात (Gujarat) के बनासकांठा जिले के एक मंदिर में शनिवार को अपनी जीभ काट ली. वह लॉकडाउन से परेशान था और घर वापस जाना चाहता था. हालांकि पुलिस ने उन खबरों से इनकार किया है कि शिल्पकार ने मंदिर में देवी को ‘चढ़ावा’ चढ़ाने के लिए अपनी जीभ काटी है.

मध्यप्रदेश के मुरैना जिला निवासी विवेक शर्मा (24) पेशे से शिल्पकार हैं. वह शनिवार को सुई गाम तहसील के नादेश्वरी गांव के नादेश्वरी माता मंदिर में खून से लथपथ बेहोश स्थिति में पाया गया. पुलिस उपनिरीक्षक एचडी परमार ने बताया, जब वह हमें मिला उसने अपनी जीभ हाथ में पकड़ी हुई थी. हम उसे तुरंत सुई गाम अस्पताल ले गए.

जिस मंदिर में यह घटना हुई, उसकी देखभाल सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) करता है, जबकि शर्मा वहां से करीब 14 किलोमीटर दूर एक दूसरे मंदिर में काम करता था. प्रारंभिक जांच के अनुसार, लॉकडाउन के कारण राज्यों की सीमाएं सील होने के बाद शर्मा को घर की बहुत याद सता रही थी और वह व्याकुल हो गया था.



इसे भी पढ़ें :- देश में एक दिन में रिकॉर्ड 2000 से ज्यादा नए केस, जानें क्या है आपके राज्य का हाल
पुलिस ने अभी कुछ भी कहने से किया इनकार
बीएसएफ के स्थानीय अधिकारी ने बताया कि शर्मा ने संभवत: सोचा होगा कि देवी को जीभ के रूप में चढ़ावा चढ़ाने से हालात बदल जाएंगे और वह घर जा सकेगा. हालांकि, पुलिस ने कहा कि शर्मा की तबीयत सुधरने और उसका बयान दर्ज करने से पहले वह ऐसी किसी भी चीज की पुष्टि नहीं कर सकती कि वास्तव में क्या हुआ था.

इसे भी पढ़ें :-
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज