Home /News /nation /

'ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम' में पीएम मोदी ने कहा- रूस का विश्वसनीय भागीदार साबित होगा भारत

'ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम' में पीएम मोदी ने कहा- रूस का विश्वसनीय भागीदार साबित होगा भारत

इस्टर्न इकोनॉमिक फोरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत और रूस की दोस्ती का जिक्र किया.

इस्टर्न इकोनॉमिक फोरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत और रूस की दोस्ती का जिक्र किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm narendra modi) ने शुक्रवार को 'ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम' को संबोधित करते हुए कहा कि रूस के सुदूर पूर्व क्षेत्र के विकास में मास्को (Moscow) के नजरिए एवं सोच को वास्तविकता में बदलने में भारत एक विश्वसनीय साझेदार साबित होगा. उन्‍होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) को शुक्रिया कहा.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (pm narendra modi) ने शुक्रवार को ‘ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम’ को संबोधित करते हुए कहा कि रूस के सुदूर पूर्व क्षेत्र के विकास में मास्को (Moscow) के नजरिए एवं सोच को वास्तविकता में बदलने में भारत एक विश्वसनीय साझेदार साबित होगा. भारत और रूस के संबंधों की अहम बताते हुए उन्‍होंने कहा कि इस बात की खुशी है कि मैं ईस्‍टर्न इकोनॉमिक फोरम को संबोधित कर रहा हूं. उन्‍होंने इस सम्मान के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) को शुक्रिया कहा.

    पीएम मोदी ने अपनी 2019 की व्लादिवोस्तोक यात्रा को याद किया और बताया कि उस समय भी सुदूर पूर्व इलाके को विकसित करने की, राष्‍ट्रपति पुतिन के नजरिए की तारीफ की थी. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के इतिहास एवं सभ्यता में ‘संगम’ शब्द का विशेष महत्व है. इसका मतलब नदियों, लोगों और विचारों का मेल-मिलाप है. उन्होंने कहा, ‘मेरे विचार से व्लादिवोस्तोक वास्तव में यूरेशिया और प्रशांत का संगम स्थल है.’ 2019 की यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने व्लादिवोस्तोक के सुदूर पूर्व में स्थित बंदरगाह के विकास में एक अरब अमेरिकी डॉलर का ऋण देने की घोषणा की थी. उन्होंने चेन्नई और व्लादिवोस्तोक के बीच सीधा सामुद्रिक कॉरीडोर बनाने के लिए एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर भी किए थे.

    ये भी पढ़ें :  मिलिट्री सिलेबस का हिस्सा बनेंगे कौटिल्य का अर्थशास्त्र और भगवद गीता, CDM की सिफारिश

    ये भी पढ़ें : National Monetisation Pipeline: चिदंबरम के केंद्र से 20 सवाल, कहा- कांग्रेस ने कभी सामरिक संपत्तियों को नहीं बेचा

    प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के पास प्रतिभाशाली, समर्पित कार्यबल है, भारतीय प्रतिभा के लिए रूस के सुदूर पूर्व में विकास में योगदान देने की खातिर भरपूर गुंजाइश है. दोनों देशों के बीच ऊर्जा भागीदारी से वैश्विक ऊर्जा बाजार में स्थिरता लाने में मदद मिल सकती है. भारत-रूस की दोस्ती समय की कसौटी पर खरी उतरी है, हाल ही में टीके को लेकर सहयोग सहित कोविड महामारी के दौरान मजबूत सहयोग से यह साफ हुआ है.

    पीएम ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है कि भारत का सबसे बड़ा शिपयार्ड मझगांव रूस की कंपनी वेज्दा के साथ मिलकर विश्व स्तरीय कॉमर्शियल जहाजों का निर्माण करने जा रहा है इस मौके पर पीएम ने रूस के 11 क्षेत्रों के गवर्नर को भारत आने का न्योता दिया

    Tags: Moscow, Pm narendra modi, Vladimir Putin

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर