प्रदूषण और कोरोना ने बिगाड़ा दिल्ली का हाल, तेजी से बढ़ रही संक्रमितों की संख्या

दिल्ली के कुछ इलाकों में हवा की स्थिति बेहद गंभीर है. (फोटो: ANI/Twitter)
दिल्ली के कुछ इलाकों में हवा की स्थिति बेहद गंभीर है. (फोटो: ANI/Twitter)

दिल्ली में कोरोना वायरस (Corona Virus) के मामले बढ़ने से एक्सपर्ट्स के मन में वायरस की तीसरी लहर (Third Wave) को लेकर चिंता बढ़ गई है. हालांकि, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Health Minister Satyendra Jain) ने यह साफ किया है कि इस बात का पता करने के लिए एक हफ्ते के ट्रेंड्स पर नजर रखनी होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2020, 3:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पहले ही जहरीली हवा की परेशानी से जूझ रही देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना फिर से नई मुसीबत बनता जा रहा है. गुरुवार को आए 5,739 संक्रमण के मामलों के चलते चिंता बढ़ गई है. इसके साथ ही दिल्ली के कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स (Air Quality Index) 'बेहद खराब' स्तर पर रहा. इन इलाकों में आनंद विहार, द्वारका सेक्टर, अलीपुर और जहांगीरपुरी का नाम शामिल है.

फिलहाल एक्सपर्ट्स के सामने कोरोना वायरस की तीसरी लहर चिंता का कारण बनी हुई है. इसके जवाब में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि इस बात का पता करने के लिए फिलहाल एक हफ्ते तक ट्रेंड्स पर नजर रखनी होगी.

तापमान बना दिल्ली की हवा का दुश्मन
दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के आंकड़े देखें तो शुक्रवार को आनंद विहार में एयर क्वालिटी इंडेक्स 408 पर रहा. जबकि, यही आंकड़ा द्वारका सेक्टर-8 में 405, अलीपुर में 403, जहांगीरपुरी में 423 रहा. यह आंकड़े एयर क्वालिटी इंडेक्स की गंभीर श्रेणी में आते हैं. बवाना में हवा की क्वालिटी 447, पटपड़गंज में 404 और वजीपुर में 411 पर था.




खास बात है कि हवा में नमी बढ़ने के कारण पॉल्यूटेंट्स हवा में देर तक बना रहते हैं. इतना ही नहीं यह तत्व हवा में एक लेयर भी तैयार कर देते हैं. मौसम विभाग के मुताबिक, इस बार अभी तक वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव नहीं हो रहे हैं. राजस्थान के ऊपर एंटी साइक्लोन परिस्थिति ने भी हवाओं को और ठंडा करने का काम किया है. इसके अलावा ला नीना के असर की वजह से इस बार सर्दी का मौसम लंबा चलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज