• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • प्रधानमंत्री से कांग्रेस का सवाल- सब कुछ बेच दे रहे हैं तो आत्मनिर्भर कैसे बनेगा भारत?

प्रधानमंत्री से कांग्रेस का सवाल- सब कुछ बेच दे रहे हैं तो आत्मनिर्भर कैसे बनेगा भारत?

रणदीप सुरजेवाला की फाइल फोटो

रणदीप सुरजेवाला की फाइल फोटो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने देश के 74वें स्वाधीनता दिवस (Independence Day 2020 ) पर लाल किले (Red fort) के प्राचीर से देश को संबोधित किया. उनके संबोधन का मुख्य केंद्र बिन्दु आत्म निर्भर भारत (Aatma Nirbhar Bharat) था.

  • Share this:
    नई दिल्ली.  देश के 74वें स्वाधीनता दिवस (Independence Day 2020 ) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने लाल किले (Red fort) के प्राचीर से देश को संबोधित किया. शनिवार को उनके संबोधन का मुख्य केंद्र बिन्दु आत्म निर्भर भारत (Aatma Nirbhar Bharat) था. उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आगे आएं. प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि देश को आत्मनिर्भर बनना ही होगा. प्रधानमंत्री के संबोधन पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सूरजेवाला ने कहा कि  'आत्मनिर्भर भारत की बुनियाद पंडित जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल और दूसरे स्वतंत्रता सेनानियों ने रखी थी. अब जब हम आत्मनिर्भर भारत की बात करते हैं तो यह सवाल पूछना पड़ेगा कि जो सरकार सार्वजनिक उपक्रमों को बेच दे और रेलवे एवं हवाई अड्डों का निजीकरण कर रही हो, वो इस देश की आजादी को सुरक्षित रख पाएगी?'

    पीटीआई के अनुसार सूरजेवाला ने सवाल किया, 'हर भारतवासी सोच रहा है कि आज आजादी के मायने क्या हैं? क्या हमारी सरकार लोकतंत्र में विश्वास रखती है, जनमत और बहुमत में विश्वास रखती है? इस देश में बोलने, सोचने, कपड़ा पहनने और आजीविका कमाने की आजादी है या कहीं न कहीं इन पर अंकुश लग गया है?'

    मोदी ने कहा- विश्व कल्याण के लिए भारत की आत्मनिर्भरता जरूरी
    गौरतलब है कि ‘आत्मनिर्भर भारत’ को विश्व कल्याण के लिए भी जरूरी बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी भी इस संकल्प से देश को नहीं डिगा सकती है. ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से अपने सातवें स्वतंत्रता दिवस संबोधन में मोदी ने कहा कि भारत की संप्रभुता का सम्मान सर्वोपरि है और जिसने भी इस पर आंख उठाई, देश व देश की सेना ने उसे उसकी ही भाषा में जवाब दिया. प्रधानमंत्री ने ‘मेक इन इंडिया’ के साथ ‘मेक फॉर वर्ल्ड’ का नारा दिया और ‘राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य अभियान’ की घोषणा की.

    पारम्परिक कुर्ता-पायजामा और माथे पर साफा पहने प्रधानमंत्री ने 86 मिनट के अपने संबोधन में कहा कि आत्मनिर्भर भारत का मतलब सिर्फ आयात कम करना ही नहीं, अपनी क्षमता, अपनी रचनात्मकता, अपने कौशल को बढ़ाना भी है.

    पीएम ने कहा कि सिर्फ कुछ महीने पहले तक एन-95 मास्क, पीपीई किट, वेंटिलेटर ये सब विदेशों से मंगवाये जाते थे लेकिन आज इन सभी में भारत न सिर्फ अपनी जरूरतें खुद पूरी कर रहा है, बल्कि दूसरे देशों की मदद के लिए भी आगे आया है. उन्होंने कहा कि पिछले साल भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

    उन्होंने कहा, ‘भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में 18 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. आज दुनिया की बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत का रुख कर रही हैं. हमें ‘मेक इन इंडिया’ के साथ-साथ ‘मेक फॉर वर्ल्ड’ के मंत्र को लेकर आगे बढ़ना है.’प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बीच भारतीयों ने आत्म-निर्भर होने का संकल्प लिया है और यह केवल शब्द नहीं बल्कि सभी लोगों के लिए मंत्र है. (भाषा इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज