Home /News /nation /

एक और मील का पत्थर, 105 करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन पूरे, स्वास्थ्य मंत्री ट्वीट कर बताया

एक और मील का पत्थर, 105 करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन पूरे, स्वास्थ्य मंत्री ट्वीट कर बताया

105 करोड़ कोरोना वैक्सीन डोज अब तक लगाए जा चुके हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

105 करोड़ कोरोना वैक्सीन डोज अब तक लगाए जा चुके हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

105 Crore Covid-19 Vaccine Dose: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने शुक्रवार को जानकारी दी है कि देश में कोरोना वैक्सीन के 105 करोड़ डोज लगाए जा चुके हैं. केंद्र सरकार दिसंबर तक देश में सभी वयस्कों के वैक्सीनेशन की राह पर तेजी का साथ आगे बढ़ रही है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारत ने कोरोना वैक्सीनेशन (Covid-19 Vaccination) के मामले में एक और मील का पत्थर (Milestone Achieved) हासिल किया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) ने शुक्रवार को जानकारी दी है कि देश में कोरोना वैक्सीन के 105 करोड़ डोज (105 Crore Vaccine Dose) लगाए जा चुके हैं. केंद्र सरकार दिसंबर तक देश में सभी वयस्कों के वैक्सीनेशन की राह पर तेजी का साथ आगे बढ़ रही है. बीते जून महीने में केंद्र सरकार ने दावा किया था कि दिसंबर महीने तक देश में सभी वयस्क लोगों का कोरोना वैक्सीनेशन पूरा कर दिया जाएगा.

    भारत में बीते 21 अक्टूबर को 100 करोड़ वैक्सीन डोज का आंकड़ा पूरा किया गया था. इस बड़ी उपलब्धि पर पीएम ने अपने संबोधन में कहा था कि ये नए भारत की तस्वीर है जो लक्ष्य निर्धारित कर उन्हें हासिल करना जानता है. दुनिया भर में इस उपबल्धि की सराहना हो रही है लेकिन भारत ने इसकी शुरुआत कहां से की थी. एक ऐसी जंग की शुरुआत थी जब देश में वेंटिलेटर और ऑक्सीजन तो दूर मास्क तक उपलब्ध नहीं था. मास्क तक की कालाबाजारी हो रही थी. दुनिया के बड़े देशों के लिए वैक्सीन पर रिसर्च करना, वैक्सीन खोजना जैसी चीजों पर दशकों की महारथ और एकाधिकार तक था. यहां तक की भारत भी विकसित देशों द्वारा बनायी वैक्सीन पर ही निर्भर रहता था. पोलियो हो या फिर कालाजार या फिर हिपेटाइटिस जैस बीमारियों के टीके, कई दवाएं तो इजाद होने के एक दशक बाद भारत पहुंची थीं.

    क्या पूरा हो पाएगा दिसंबर तक सभी वयस्कों का वैक्सीनेशन
    हालांकि केंद्र सरकार द्वारा दिसंबर तक सभी वयस्कों के वैक्सीनेशन को लेकर संदेह भी जाहिर किया गया था. एक रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार के अधिकारियों का कहना है कि केंद्र दिसंबर तक 188 करोड़ डोज सुनिश्चित कर देगा.

    वयस्कों में दूसरे डोज वैक्सीनेशन का काम 2022 में भी चलता रहेगा. इसका कारण ये है कि वैक्सीनेशन अभी लोगों की इच्छा पर है यानी इसे अनिवार्य नहीं किया गया है. ज्यादातर बड़े देश 80 से 85 फीसदी वयस्कों के फुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा नहीं पार कर पाए हैं. जबकि सरकारों की तरफ से पूरे प्रयास किए गए हैं.

    वैक्सीन निर्यात एक बार फिर शुरू
    इस बीच केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीन का निर्यात भी एक बार फिर से शुरू कर दिया है. देश में वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक होने के बाद अब कुछ देशों को वैक्सीन निर्यात शुरू किया गया है. इनमें नेपाल, बांग्लादेश और ईरान जैसे देश शामिल हैं.

    Tags: COVID 19, Mansukh Mandaviya

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर