• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • भारत ने फिर पाकिस्तान को दिया करारा जवाब, UN में कहा- समय खराब करने के बजाय अपना हाल देखें

भारत ने फिर पाकिस्तान को दिया करारा जवाब, UN में कहा- समय खराब करने के बजाय अपना हाल देखें

मानवाधिकार परिषद के 47वें सत्र में भी भारत ने कहा था कि पाकिस्तान को आतंकवाद को बढ़ावा देने और सहायता देने के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए. (फाइल फोटो: Shutterstock)

मानवाधिकार परिषद के 47वें सत्र में भी भारत ने कहा था कि पाकिस्तान को आतंकवाद को बढ़ावा देने और सहायता देने के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए. (फाइल फोटो: Shutterstock)

India at UNHRC: मानवाधिकार परिषद की 48वीं आम बहस में भारत ने कहा, 'परिषद ने पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल की तरफ से किए गए लगातार और आप्रासंगिक रूप से शेखी बघारते हुए देखा. यह केवल उनकी निराशा और मानसिक स्थिति को दिखाता है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. आतंकवाद (Terrorism) और जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के मुद्दे पर भारत ने पाकिस्तान (Pakistan) को एक बार फिर करारा जवाब दिया है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) की आम बहस में भारत ने साफ कर दिया है कि जम्मू-कश्मीर उसका अभिन्न हिस्सा है और हमेशा रहेगा. भारत ने सलाह दी है कि पाकिस्तान को परिषद का ‘समय व्यर्थ’ करने के बजाए अपने देश में मानवाधिकारों की गंभीर स्थिति पर ध्यान देना चाहिए. इसके अलावा भारत ने अपने ‘जवाब देने के अधिकार’ का इस्तेमाल करते हुए परिषद से अपील की है कि वो पाकिस्तान से सरकार समर्थित आतंकवाद को खत्म करने का आह्वान करे.

    मानवाधिकार परिषद की 48वीं आम बहस में भारत ने कहा कि परिषद ने पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल की तरफ से लगातार और आप्रासंगिक रूप से आरोप लगाए हुए देखा. यह केवल उनकी निराशा और मानसिक स्थिति को दिखाता है. भारत ने जवाब दिया, ‘पाकिस्तान की तरफ से कब्जाया हुआ क्षेत्र समेत जम्मू और कश्मीर का पूरा इलाका भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा. पाकिस्तान को परिषद का समय खराब करने के बजाए पाकिस्तान में मानवाधिकार की गंभीर स्थिति पर ध्यान लगाना चाहिए.’

    इस दौरान भारत ने एक बार फिर पाकिस्तान के आतंकवाद समर्थक होने की बात कही. जवाब दिया गया, ‘यह आश्चर्य की बात नहीं है कि पाकिस्तान ने अपनी स्थिति दुनिया के आतंकवाद के केंद्र और आतंक और हिंसा के सबसे बड़े निर्यात करने वाले के तौर पर बरकरार रखी है.’ भारत ने कहा कि पाकिस्तान ऐसा देश है, जहां के पूर्व राष्ट्रपतियों और प्रधानमंत्रियों ने सरकारी तंत्र और आतंकवादी संगठनों के तार जुड़े होने की बात खुले तौर पर स्वीकारी है.

    भारत ने कहा, ‘यह विडंबना है कि पाकिस्तान जैसा कट्टर और असफल देश, जो लोकतंत्र की सिद्धांतों और संस्कृति की परवाह नहीं करता, वह भारत जैसे सबसे बड़ी और ज्वलंत लोकतंत्र को उपदेश देने की हिम्मत करता है.’ भारत ने कहा कि अपने क्षेत्र में रह रहे लोगों को मानवाधिकार और बुनियादी स्वतंत्रता देने में असलता से ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान का भारत पर निराधार और मनगढ़ंत आरोप है कि यह एक और प्रयास है.

    हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब भारत ने संयुक्त राष्ट्र में आतंकवाद के मुद्दे पर पड़ोसी मुल्क को घेरा हो. मानवाधिकार परिषद के 47वें सत्र में भी भारत ने कहा था कि पाकिस्तान को आतंकवाद को बढ़ावा देने और सहायता देने के लिए जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज