अपना शहर चुनें

States

बॉर्डर के पास चीन के साथ पाकिस्‍तान कर रहा युद्ध अभ्‍यास, वायुसेना अलर्ट

भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) लद्दाख के पास चले रहे युद्धाभ्‍यास पर काफी करीब से नजर रख रही है.
भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) लद्दाख के पास चले रहे युद्धाभ्‍यास पर काफी करीब से नजर रख रही है.

भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) लद्दाख के पास चले रहे युद्धाभ्‍यास पर काफी करीब से नजर रख रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2019, 9:26 PM IST
  • Share this:
अनुच्‍छेद 370 (Article 370) पर बौखलाहट के बीच पाकिस्‍तान (Pakistan) पड़ोसी मुल्‍क चीन के साथ हवाई युद्धाभ्‍यास कर रहा है. न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) लद्दाख के पास चले रहे युद्धाभ्‍यास पर काफी करीब से नजर रख रही है. इस युद्धाभ्‍यास में पाकिस्‍तानी JF-17s और चीनी J10 हिस्‍सा ले रहे हैं.

दोनों देशों की वायुसेनाएं लेह से महल 300 किलोमीटर दूर यह युद्ध अभ्‍यास कर रही हैं. इस युद्ध अभ्‍यास के साथ ही भारतीय वायुसेना की नजर गिलगित बाल्टिस्‍तान क्षेत्र के स्‍कार्दू एयरबेस पर भी है. वहीं पाकिस्‍तान के जेएफ-17 विमानों पर भी खास निगरानी रखी जा रही है.

PoK में जंग का सामान जुटा रहा पाकिस्तान: रिपोर्ट
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने पीओके में अपनी गतिविधियां तेज कर दी है. एलओसी (नियंत्रण रेखा) के पास स्पेशल कमांडिंग ऑफिसर तैनात किए गए हैं. साथ ही अलग से 6 ब्रिगेड तैयार की जा रही हैं.
'दैनिक भास्कर' ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि पाकिस्तानी आर्मी पीओके में भारत के खिलाफ छोटे युद्ध के लिए साजो-सामान जुटा रही है. एलओसी के हर क्षेत्र में ब्रिगेड जमा की जा रही है. पाक आर्मी का खास फोकस दाना और बाघ सेक्टर में है. लीपा और चंब सेक्टर में भी सेना की गतिविधि बढ़ा दी गई है. यहां भारी हथियार और जंग के अन्य साजो-सामान इकट्ठा किए जा रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, दाना सेक्टर में जिस तरह से हथियार इकट्ठा किए जा रहे हैं, वो सामान्य नहीं है. हालात देखकर ऐसा लगता है कि जंग किसी भी वक्त शुरू हो सकती है.



LoC के पास के लॉन्च पैड पर हुआ आतंकियों का जमावड़ा
खुफिया रिपोर्ट में ख़ुलासा हुआ है कि 200 से भी ज़्यादा अफगानी आतंकी जो कि तालिबान (Taliban) के साथ मिलकर लड़ चुके है, भारत पर हमले के लिए एलओसी (Loc) के करीब लॉन्च पैड पर मौजूद हैं. यही नहीं एक रिपोर्ट के मुताबिक़ कुछ अफगानी आतंकियों के भारत में घुसपैठ की ख़बर भी है, जो दिल्ली सहित अन्य बडे शहरों में आतंकी वारदात कर माहौल बिगाड़ सकते हैं.

PoK में एक्टिव हुआ मसूद अज़हर का भाई
ख़ुफ़िया रिपोर्ट के मुताबिक़ बाक़ायदा 19 अगस्त को बहावलपुर में आतंकी तंजीमों की एक बड़ी बैठक बुलाई गई थी जिसकी प्रमुखता मसूद अज़हर का छोटा भाई मौलाना रउफ अज़हर कर रहा था. वह जैश के आर्म्ड विंग का कमांडर है.

रउफ अफगानिस्तान की लड़ाई में भी सक्रिय रहा है. ऐसे में रउफ इस कोशिश में लगा है कि ज़्यादा से ज़्यादा अफगानी आतंकियों को भारत में भेजा जा सके. इसके पीछे वजह यह है कि अफगानी आतंकी बाकी आतंकी तंजीमों से ज़्यादा बेहतर ट्रेंड होते हैं. सूत्रों की माने को इस बैठक में घुसपैठ और आतंकी हमलों को लेकर चर्चा की गई और उस बैठक के नतीजे को ISI के पास मंज़ूरी के लिए भेजा गया है.

ये भी पढ़ें: अपनी कंगाली के लिए भी भारत को दोष दे रहा है पाकिस्तान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज