LAC पर चीन के साथ गतिरोध के बीच QUAD मीटिंग के लिए भारत तैयार

अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान का समूह
अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान का समूह

अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान (india america japan australia quad meeting) अगले महीने QUAD सिक्योरिटी डायलॉग की जगह और तारीख तय करने के लिए बातचीत कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 4:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान अगले महीने QUAD सिक्योरिटी डायलॉग की  जगह और तारीख तय करने के लिए बातचीत कर रहे हैं. जिसके बाद यहां भारत और अमेरिका के बीच 2 प्लस 2 वार्ता होगी. फिलहाल QUAD डायलॉग के लिए जापान एक विकल्प है. माना जा रहा है कि QUAD और 2 प्लस 2 संवाद अगले महीने के अंत में नई दिल्ली में फिर से आयोजित किए जा सकते हैं.

QUAD डायलॉग लोकतांत्रिक देशों के बीच एक इनफॉर्मल टाई-अप है जो मिलिट्री लॉजिस्टिक्स सपोर्ट, एक्सरसाइज और सूचना के माध्यम से इंटर ऑपरेबिलिटी में मदद करता है. इसके जरिए भारत-प्रशांत समुद्री कम्यूनिकेशन लेन को कृत्रिम निर्माण और बाधाओं से मुक्त रखा जाता है. QUAD डायलॉग में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ, भारतीय विदेश मामलों के मंत्री एस जयशंकर, जापानी विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी और ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने मौजूद रहेंगे.

इसलिए नहीं हो पाई थी चर्चा
अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार माना जा रहा है कि इस कार्यक्रम की तारीख और जगह तय होने में जापान के नए पीएम के शपथ ग्रहण के चलते देरी हुई. 2+2 डायलॉग के दौरान नई दिल्ली में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अमेरिकी रक्षा सचिव मार्क ग्रॉफ के साथ शामिल होंगे.
यह भी पढ़ें: बड़ी खबर- प्राइवेट ट्रेन खुद तय करेंगी अपना किराया, सरकार देगी छूट





QUAD के निशाने पर कोई देश नहीं है लेकिन यह अनौपचारिक समूह चीन पर अपनी निगाह रखे हुए है. साथ ही वह इंडो-पैसिफिक और हिंद महासागर की सुरक्षा पर इसके प्रभाव को करीब से देख रहा है. बीजिंग ने सभी चार QUAD सदस्यों के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. QUAD का उदय चीन द्वारा पूरे दक्षिण चीन सागर पर दावा करने के बाद हुआ जिसको अंतरराष्ट्रीय जगत ने खारिज़ कर दिया.

चीन होगा चर्चा का केंद्र बिन्दु!
माना जा रहा है कि QUAD को और मजबूत किया जा सकता है क्योंकि भारत ने अमेरिका और जापान के साथ मंत्री स्तर पर और विदेश सचिव स्तर पर ऑस्ट्रेलिया के साथ 2 + 2 वार्ता की है. सभी चारों राष्ट्र एक बार फिर सैन्य अभ्यास कर सकते हैं और मालाबार एक्सरसाइज के तहत इस बार नेवी Quad की संभावना अधिक है लेकिन अभी इस पर कोई आखिरी फैसला नहीं हुआ है.

QUAD के साथ ही भारत और अमेरिका के साथ होने वाले 2+2 डायलॉग में लंबे समय से इंतजार कर रहे जिओस्पैटियल डेटा साझा करने के लिए सहयोग को शुरू करने पर बातचीत हो सकती है. वहीं अमेरिका सशस्त्र ड्रोन सहित भारत को सैन्य लाइन के शीर्ष पर आपूर्ति करने के लिए तैयार है.

यह बात दीगर है कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर इस साल मई से भारत और चीन के बीच जारी गतिरोध, QUAD डायलॉग और 2+2 के दौरान चर्चा का विषय रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज