लाइव टीवी

अनुच्‍छेद-370 हटाए जाने के बाद राजनयिक संबंधों को फिर दुरुस्‍त करने की कोशिश कर रहे भारत-पाकिस्‍तान

News18Hindi
Updated: November 8, 2019, 1:26 PM IST
अनुच्‍छेद-370 हटाए जाने के बाद राजनयिक संबंधों को फिर दुरुस्‍त करने की कोशिश कर रहे भारत-पाकिस्‍तान
भारत और पाकिस्‍तान के बीच राजनयिक संबंधों को फिर से दुरुस्‍त करने के लिए परदे के पीछे से बातचीत जारी है.

भारत (India) और पाकिस्‍तान (Pakistan) को महसूस हो रहा है कि द्विपक्षीय संबंधों (Bilateral Relations) की चुनौतियों को रखने के लिए राजनयिकों (Diplomats) का होना बहुत जरूरी है. राजनयिकों की जरूरत इसलिए भी महसूस की जा रही है ताकि किसी भी मामले में दोनों देश एक दूसरे के सामने अपना पक्ष रख सकें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2019, 1:26 PM IST
  • Share this:
महा सिद्दिकी

नई दिल्‍ली. भारत और पाकिस्‍तान करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) का उद्घाटन करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. इस बीच ऐसा महसूस किया जा रहा है कि दोनों देश अपने उच्‍चायुक्‍तों से इस्‍लामाबाद (Islamabad) और नई दिल्‍ली (New Delhi) में फिर कार्यभार संभालने को कह सकते हैं. सूत्रों ने News18 को बताया कि पिछले कुछ दिनों से दोनों देशों के बीच पूर्ण राजनयिक संबंधों (Full Diplomatic Ties) को फिर से प्रभाव में लाने के लिए परदे के पीछे बातचीत जारी है. बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) से अनुच्‍छेद-370 (Article -370) हटाने के बाद पाकिस्‍तान (Pakistan) ने भारत (India) के साथ राजनयिक संबंधों को घटाना शुरू कर दिया था.

चुनौतियों से निपटने के लिए राजनयिक की जरूरत महसूस कर रहे दोनों देश
सूत्रों के मुताबिक, दोनों देशों को महसूस हो रहा है कि द्विपक्षीय संबंधों (Bilateral Relations) की चुनौतियों को रखने के लिए राजनयिकों (Diplomats) का होना बहुत जरूरी है. राजनयिकों की जरूरत इसलिए भी महसूस की जा रही है ताकि किसी भी मामले में दोनों देश एक दूसरे के सामने अपना पक्ष रख सकें. भारत सरकार ने 5 अगस्‍त को अनुच्‍छेद-370 हटाने का फैसला लिया था. इसके बाद 7 अगस्‍त को पाकिस्‍तान ने प्रतिक्रिया में कई कदम उठाए. इस्‍लामाबाद ने भारतीय उच्‍चायुक्‍त अजय बिसारिया को पाकिस्‍तान छोड़ने का फरमान तक सुना दिया. साथ ही घो‍षाणा कर दी कि पाकिस्‍तानी उच्‍चायुक्‍त मोइन-उल-हक भनई दिल्‍ली में अपना कार्यभार ग्रहण नहीं करेंगे.

फरवरी से भारत-पाकिस्‍तान के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है
फरवरी, 2019 से भारत और पाकिस्‍तान के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने जैश-ए-मोहम्‍मद (JeM) के आतंकी प्रशिक्षण शिविर को ध्‍वस्‍त करने के लिए पाकिस्‍तान के बालाकोट (Balakot) में 27 फरवरी को हवाई हमला (Air Strike) किया. जवाब में अगले ही दिन पाकिस्‍तान की वायुसेना ने भारतीय सैन्‍य प्रतिष्‍ठानों (Indian Military Installation) को निशाना बनाने के लिए हमले की कोशिश की, जिसे भारतीय वायुसेना ने नाकाम कर दिया. इसमें पाकिस्‍तान का एक लड़ाकू विमान ध्‍वस्‍त कर दिया गया.

दोनों देशों के बीच तनाव के बावजूद जारी रहा करतारपुर कॉरिडोर का काम
Loading...

यह दिलचस्‍प है कि फरवरी से दोनों देशों के बीच जारी तनाव (Tension) के बावजूद करतापुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) का काम लगातार जारी रहा. यहां तक कि 5 अगस्‍त के बाद भी दोनों देश गुरुनानक देव (Guru Nanak Dev) के 550वें प्रकाशोत्‍सव से पहले कॉरिडोर को पूरा करने की प्रतिबद्धता से पीछे नहीं हटे.

ये भी पढ़ें:

पाकिस्तान ने एक बार फिर किया संघर्षविराम का उल्लंघन, 1 सैनिक की हुई मौत
सिर्फ अयोध्या केस ही नहीं,सुप्रीम कोर्ट को 4 दिन में सुनाने हैं ये 7 अहम फैसले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 12:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...