Home /News /nation /

दाऊद समेत तमाम आतंकी नेटवर्क ध्वस्त करने में भारत की मदद करेगा यूएई

दाऊद समेत तमाम आतंकी नेटवर्क ध्वस्त करने में भारत की मदद करेगा यूएई

भारत और यूएई आतंकवाद के खिलाफ सहयोग औऱ सूचना साझा करेंगे. इसके अलावा दाऊद इब्राहिम जैसे तमाम आतंकियों और उनके नेटवर्क को ध्वस्त करने में भी यूएई भारत की मदद करेगा.

भारत और यूएई आतंकवाद के खिलाफ सहयोग औऱ सूचना साझा करेंगे. इसके अलावा दाऊद इब्राहिम जैसे तमाम आतंकियों और उनके नेटवर्क को ध्वस्त करने में भी यूएई भारत की मदद करेगा.

भारत और यूएई आतंकवाद के खिलाफ सहयोग औऱ सूचना साझा करेंगे. इसके अलावा दाऊद इब्राहिम जैसे तमाम आतंकियों और उनके नेटवर्क को ध्वस्त करने में भी यूएई भारत की मदद करेगा.

  • News18.com
  • Last Updated :
भारत और यूएई आतंकवाद के खिलाफ सहयोग औऱ सूचना साझा करेंगे. इसके अलावा दाऊद इब्राहिम जैसे तमाम आतंकियों और उनके नेटवर्क को ध्वस्त करने में भी यूएई भारत की मदद करेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अबूधाबी के युवराज शेख मोहम्मद बिन जाएद अल नाहेयान की मुलाकात के बाद भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने कई अहम समझौतों पर सहमति जताई. दोनों देशों ने जारी संयुक्त बयान में पाकिस्तान का नाम लिए बिना आतंकवाद के मददगार मुल्कों को सख्त संदेश दिया.

गणतंत्र दिवस पर खास मेहमान बनकर आए अबूधाबी के युवराज की सरकारी यात्रा समाप्त होने के मौके पर जारी साझा बयान में दोनों देशों ने आतंकवाद के खिलाफ एक-दूसरे के हाथ मजबूत करने का संकल्प जताया। संयुक्त बयान में दोनों मुल्कों ने कहा कि आतंकवाद चाहे जिस रंग और रूप में हो दोनों मुल्क उसकी निंदा करते हैं औऱ उससे मुकाबले को संकल्पित हैं। आतंकवाद को कहीं भी जायज नहीं ठहराया जा सकता। साझा बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औऱ शेख मोहम्मद बिन जाएद इस बात पर एकमत हैं कि आतंकियों और उनको पनाह देने वालों के खिलाफ ठोस कार्रवाई के लिए कड़े कदम उठाने की जरूरत है।

इतना ही नहीं भारत और यूएई ने कट्टरपंथ और धर्म के नाम पर आतंकवाद को बढ़ावा देने के खिलाफ साझेदारी मजबूत करने पर भी रजामंदी जताई। साझा बयान के मुताबिक, दोनों पक्ष मजहब के नाम पर आतंकवाद को जायज ठहराने वाले, उसे सींचने और प्रायोजित करने वाले मुल्कों की निंदा करते हैं। भारत और यूएई ने इस बाद पर खेद जताया कि कुछ मुल्क राजनीतिक मुद्दों को मजहब और जातिगत रंग देने की कोशिश कर रहे हैं। सभी देशों के यह जिम्मेदारी है कि वो तथाकथित नॉन स्टेट एक्टर्स पर लगाम कसें। दोनों देश इस बात पर सहमत हैं कि धर्म के नाम पर आतंकी घटनाओं को अंजाम देने वालों और नफरत फैलाने वाले मुल्कों और समूहों के खिलाफ आपसी सहयोग बढ़ाएंगे।

भारत औऱ यूएई इस बात पर भी रजामंदी जताई कि आतंकी नेटवर्क, उसकी आर्थिक रसद और आवाजाही की रोकथाम को संयुक्त राष्ट्र प्रावधानों के अनुरूप सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इससे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री मोदी औऱ युवराज शेख मोहम्मद बिन जाएद की बातचीत के बाद संयुक्त अरब अमीरात की जमीन का इस्तेमाल अपना नेटवर्क फैलाने के लिए कर रहे दाऊद इब्राहिम जैसे आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी आएगी। इस मामले पर भारत पहले ही दाऊद नेटवर्क की यूएई में मौजूद संपत्तियों औऱ कारगुजारियों के बाबत सूचनाएं साझा कर चुका है।

Tags: Dawood ibrahim

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर