चीन दौरे पर जाएगा भारतीय सेना का दल, दोनों देशों के बीच बेहतर रिश्तों को लेकर होगी बात  

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच वुहान में तय हुआ था कि भारत-चीन के बीच बेहतर रिश्तों के लिए दोनों देशों के मिलिट्री प्रतिनिधि एक दूसरे से बात करेंगे.


Updated: July 12, 2018, 11:36 PM IST
चीन दौरे पर जाएगा भारतीय सेना का दल, दोनों देशों के बीच बेहतर रिश्तों को लेकर होगी बात  
सांकेतिक तस्वीर

Updated: July 12, 2018, 11:36 PM IST
(संदीप बोल) 

चीनी सेना के प्रतिनिधियों के भारत दौरे के बाद अब भारतीय सेना का दल चीन का दौरा करेगा. चीन में भारतीय सेना का दल पीएलए के अधिकारियों के साथ बातचीत करेगा. इस्टर्न आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल अभय कृष्णन की अगुवाई में तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल अगस्त महीने के दूसरे हफ्ते में चीन का दौरा करेगा.

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच वुहान में तय हुआ था कि भारत-चीन के बीच बेहतर रिश्तों के लिए दोनों देशों के मिलिट्री प्रतिनिधि एक दूसरे से बात करेंगे. इसके बाद इस महीने की शुरुआत में चीन के 10 वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों का प्रतिनिधिमंडल भारत दौर पर आया था.

गौरतलब है कि पिछले साल अगस्त में भारत और चीन के सैनिकों के बीच डोकलाम में 73 दिनों तक गतिरोध चला था. इस दौरान दोनों देशों के बीच युद्ध जैसी स्थिति बन गई थी, हालांकि बाद में दोनों देशों ने आपसी बातचीत से मामले को सुलझा लिया.

डोकलाम जैसी स्थिति फिर पैदा न हो इसके लिए भारत और चीन दोनों ही देश द्विपक्षीय संबंधों को सोच समझकर आगे बढ़ा रहे हैं. बता दें कि अक्सर पेट्रोलिंग के दौरान भारत और चीन की सेना के बीच टकराव की खबर आती है. दोनों देशों की सेनाओं के बीच बातचीत से टकराव की घटनाओं में कमी आ सकती है.

बता दें कि हर साल की तरह इस साल भी दोनों देशों के बीच हैंड इन हैंड मिलिट्री अभ्यास प्रस्तावित है, जो डोकलाम विवाद के बाद स्थगित हो गई थी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर