पर्यटकों का गढ़ बन सकता है भारत, जानिये क्या हैं चुनौतियां

केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल (Prahlad Singh Patel) ने कहा कि पर्यटकों (Tourists) की संख्या बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार अपने स्तर पर हर संभव प्रयास कर रही है, लेकिन राज्य सरकारों की तरफ से सहयोग नहीं मिल पा रहा है. पटेल ने कहा कि अगर राज्यों में पर्यटक आएंगे तो उस राज्य को ही फायदा होगा.

रवि सिंह | News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 3:14 PM IST
पर्यटकों का गढ़ बन सकता है भारत, जानिये क्या हैं चुनौतियां
ताज महल
रवि सिंह
रवि सिंह | News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 3:14 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अगले पांच साल में पर्यटकों (Tourists) की संख्या दोगुना करने का लक्ष्य पर्यटन मंत्रालय को दिया है, लेकिन पर्यटकों की संख्या उतनी तेजी से नहीं बढ़ रही है जिस गति से बढ़नी चाहिए. यही वजह है कि केद्र सरकार ने राज्य सरकारों से पर्यटन बढ़ाने में दिलचस्पी लेने की बात कही है. राज्य सरकार के प्रतिनिधियों से केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल (Prahlad Singh Patel) ने कहा है कि वो पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अपने स्तर पर काम करें.

केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल.


पीने के पानी की क्वालिटी को लेकर शिकायतें

मोदी सरकार पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अलग-अलग कदम उठा रही है. धरोहरों का रख-रखाव ठीक हो इसके लिए इसका जिम्मा निजी हाथों में दिया है, यही नहीं दस प्रमुख मान्यूमेंट्स को रात के नौ बजे तक खोले रखने का भी बड़ा फैसला हुआ लेकिन सबसे ज्यादा जो बात सरकार को खटक रही है वो है पीने के पानी को लेकर पर्यटकों की आ रही शिकायतें. विदेशी पर्यटकों में से सबसे ज्यादा जापान और चाइना के पर्यटकों की शिकायतें आ रही हैं कि भारत में उन्हें पीने के पानी की क्वालिटी ठीक नहीं है. जिसके लिए केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि वो पीने के पानी की क्वालिटी में सुधार लायें जिससे कि पर्यटकों के मन में भारत को लेकर खराब क्षवि न हो.

सुविधाएं बढ़ेंगी,तभी बढ़ेंगे पर्यटक

सरकार के पास सड़कों की कनेक्टिविटी को लेकर भी शिकायतें आई हैं. विदेशी पर्यटकों की तरफ से उन्हें उनकी भाषा में गाइड मुहैया कराने की मांग भी सरकार के पास आई है. केद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने राज्यों के पर्यटन मंत्रियों और प्रतिनिधियों से गुजारिश की है कि वो इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाएं जिससे कि पर्यटकों को सुविधा मिल सके. पटेल ने कहा कि मान्यूमेंट्स के आसपास खाने-पीने की सुविधा से लेकर सड़कों की कनेक्टिविटी पर भी फोकस होना चाहिए.

बनारस भारत के सबसे खास पर्यटन स्थलों में से एक है.

Loading...

धन से ज्यादा धारणा बदलने की जरुरत

केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि पर्यटकों की संख्या बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार अपने स्तर पर हर संभव प्रयास कर रही है, लेकिन राज्य सरकारों की तरफ से सहयोग नहीं मिल पा रहा है. पटेल ने कहा कि अगर राज्यों में पर्यटक आएंगे तो उस राज्य को ही फायदा होगा. पटेल ने कहा कि इसी कड़ी में केंद्र सरकार ने दस मॉन्यूमेंट्स को रात के 9 बजे तक खोलने की घोषणा की है. अब राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है कि रात के वक्त पर्यटकों को सुरक्षा मुहैया कराएं. यही नहीं सुरक्षा के अलावा उन्हे सुविधाएं भी देने की जिम्मेदारी राज्य सरकारों की है. पटेल ने कहा कि ये लक्ष्य तभी हासिल हो सकता है जब राज्य सरकारें दिलचस्पी लें.

अपनी धरोहर, अपनी पहचान

केंद्र सरकार ने पिछले साल कुछ धरोहरों के रखरखाव का जिम्मा निजी हाथों में सौंपा. जिसका रिस्पॉन्स काफी अच्छा रहा है. न सिर्फ निजी कंपनियां, औद्दोगिक घराने बल्कि लॉ फर्म और स्कूल भी धरोहरों को गोंद लेने के लिए आगे आ रहे हैं. अब तक 600 रजिस्ट्रेशन सरकार को मिल चुके हैं जिसमें 102 स्मारकों को अपनाने के लिए 38 भावी स्मारक मित्रों को आशय पत्र दिए गए यही नहीं इस परियोजना के तहत 11 समझौता ज्ञापन यानी एमओयू पर हस्ताक्षर भी किए जा चुके हैं.

यह भी पढ़ें:  INX मीडिया केस में ऐसे फंसे पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 3:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...