अपना शहर चुनें

States

India-China Talks: गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स से पीछे हटेंगे भारत-चीन के सैनिक, देपसांग-डेमचोक को लेकर जारी रहेगी बात

सीमा विवाद को खत्‍म करने के लिए भारत और चीन के बीच शनिवार को 10वें दौर की सैन्‍य वार्ता हुई. (फाइल)
सीमा विवाद को खत्‍म करने के लिए भारत और चीन के बीच शनिवार को 10वें दौर की सैन्‍य वार्ता हुई. (फाइल)

India-China Talks: चीन (China) की तरफ मॉल्दो बॉर्डर पर 16 घंटे तक चली भारत-चीन वार्ता (India-China Talks) के दौरान पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा,देपसांग और देमचोक जैसे क्षेत्रों से भी सैनिकों को वापस बुलाने की बात कही गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 2:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत (India) और चीन (China) के बीच पिछले कई महीनों से चल रहे सीमा विवाद (Border Dispute) को खत्‍म करने के लिए दोनों देशों के बीच शनिवार को 10वें दौर की सैन्‍य वार्ता हुई. चीन की तरफ मोल्दो बॉर्डर पर 16 घंटे तक चली भारत-चीन वार्ता के दौरान पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा, देपसांग और डेमचोक जैसे क्षेत्रों से भी सैनिकों को वापस बुलाने की बात कही गई. सू्त्रों से मिली जानकारी के मुताबिक गोगरा हाइट्स और हॉट स्प्रिंग पर दोनों देशों के बीच सहमति बन गई है, जबकि देपसांग और देमचोक को लेकर अभी भी कुछ मुद्दों पर चर्चा होना बाकी है.

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच पिछले कई महीनों से चले आ रहे सीमा विवाद को सुझलाने के लिए हुई 10वें दौर की वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने किया. वह लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर हैं. दूसरी ओर चीन की तरफ से इस बैठक का नेतृत्व मेजर जनरल लिउ लिन ने किया. वह चीनी सेना के दक्षिणी शिनजियांग सैन्य जिले के कमांडर हैं.

अधिकारियों ने News18 को बताया कि दोनों पक्षों की ओर से सीमा पर चल रहे तनाव को कम करने की पूरी कोशिश करते हुए हर अहम मुद्दों पर चर्चा की गई. भारत और चीन गोगरा और हॉट स्प्रिंग्स में अपनी सेनाओं को पीछे हटाने के समझौते पर सहमत होते दिखाई दे रहे हैं, लेकिन अभी तक डेपसांग और डेमचोक पर कोई समझौता नहीं हुआ है.
इसे भी पढ़ें :- India-China Talks: भारत-चीन सेना के बीच 16 घंटे तक चली वार्ता, पूर्वी लद्दाख से सैन्य वापसी पर हुई बात



सिक्योरिटी ग्रिड के एक अधिकारी ने News18 को बताया, "दोनों पक्षों द्वारा सैनिकों को पीछे हटाने को लेकर समझौता किया गया है. अब प्रस्तावों की उच्च स्तर पर जांच की जानी है. इस संबंध में आगे की बातचीत जारी रहेगी. यह पहली बार है कि चीनी डेपसांग पर चर्चा करने के लिए वार्ता की मेज पर आया है. साल 2013 से चीन ने भारतीय सेना को पैट्रोलिंग प्‍वाइंट 10, 11, 11 ए, 12 और 13 पर गश्त करने से रोक रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज