• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • India-China Standoff: राजनाथ सिंह बोले- चीन के साथ विवाद का नहीं निकला नतीजा, विस्तारवादी नीति का देंगे जवाब

India-China Standoff: राजनाथ सिंह बोले- चीन के साथ विवाद का नहीं निकला नतीजा, विस्तारवादी नीति का देंगे जवाब

अत्याधुनिक चालक रहित मेट्रो कार कंपनी के बेंगलुरू परिसर में बनाई जा रही है.

अत्याधुनिक चालक रहित मेट्रो कार कंपनी के बेंगलुरू परिसर में बनाई जा रही है.

India-China Standoff: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा, 'चीन के साथ बातचीत का सिलसिला जारी है, जल्द ही सैन्य लेवल की एक और चर्चा होनी है. हालांकि, अभी तक जो भी चर्चा हुई है उसका कोई नतीजा नहीं निकला है, अभी यथास्थिति बनी हुई है लेकिन वो भी सही नहीं है.'

  • Share this:
    India-China Standoff: पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ जारी सीमा विवाद के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने बुधवार को बड़ा बयान दिया. राजनाथ सिंह का कहना है कि चीन के साथ लद्दाख सीमा पर जारी विवाद (Ladakh Border Dispute) का अभी कोई ठोस निष्कर्ष नहीं निकला है. LAC पर यथास्थिति बनी हुई है. रक्षा मंत्री ने कहा, 'चीन के साथ बातचीत का सिलसिला जारी है, जल्द ही सैन्य लेवल की एक और चर्चा होनी है. हालांकि, अभी तक जो भी चर्चा हुई है उसका कोई नतीजा नहीं निकला है, अभी यथास्थिति बनी हुई है लेकिन वो भी सही नहीं है.'

    समाचार एजेंसी ANI से बातचीत में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर कोई देश विस्तारवाद की नीति अपनाता है, तो भारत के पास उतनी ताकत है कि वो उसे अपनी जमीन में रुकने से रोक सके.

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- कोई 'मां का लाल' किसानों से उनकी जमीन नहीं छीन सकता

    भारत किसी पर आक्रमण के लिए नहीं बना रहा इंफ्रास्ट्रक्चर
    राजनाथ सिंह ने कहा, 'भारत-चीन में लंबे वक्त से सीमा को लेकर विवाद है, ऐसे में अच्छा होता ये पहले ही खत्म होते. अगर ये खत्म हो गया होता, तो आज की स्थिति नहीं होती. चीन सीमा की अपनी ओर लगातार इंफ्रास्ट्रक्चर बना रहा है, लेकिन भारत भी अपनी सेना और नागरिकों के लिए काम कर रहा है. हम किसी पर आक्रमण करने के लिए नहीं, बल्कि अपनी सुविधा के लिए ऐसा कर रहे हैं.'





    उन्होंने कहा, 'हमारी तैनाती में कोई कमी नहीं होगी. मुझे लगता है कि उनकी तैनाती में भी कमी नहीं आएगी. मुझे नहीं लगता कि यथास्थिति एक सकारात्मक नतीजा है. वार्ता जारी है और वे एक सकारात्मक परिणाम दें, यही हमारी अपेक्षा है.'



    एएनआई को दिए गए इंटरव्यू में रक्षा मंत्री ने भारत-चीन सीमा मामलों (डब्ल्यूएमसीसी) पर परामर्श और समन्वय कार्यतंत्र (डब्ल्यूएमसीसी) की कार्य प्रणाली का उल्लेख किया, जिसकी बैठक इस महीने की शुरुआत में हुई थी. साथ ही कहा कि अगले दौर की सैन्य वार्ता कभी भी हो सकती है.


    अप्रैल से ही लद्दाख सीमा पर तनाव बरकरार
    बता दें कि भारत और चीन के बीच करीब अप्रैल से ही लद्दाख सीमा पर तनाव बरकरार है. दोनों ही देशों की सेना बड़ी संख्या में सीमा पर मुस्तैद हैं, अबतक दोनों देशों की सेना कई राउंड की बात कर चुकी है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला है.

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- आतंकवाद का मॉडल ध्वस्त, फिर नहीं हो सकता 26/11 जैसा हमला

    किसानों पर खालिस्तानी समर्थक होने का आरोप नहीं लगना चाहिए
    किसान आंदोलन में शामिल किसानों पर खालिस्तानी समर्थक होने का आरोप लगने पर राजनाथ सिंह ने कहा कि किसानों पर इस तरह का आरोप नहीं लगना चाहिए. उन्होंने कहा,'हम किसानों का सम्मान करते हैं, वो हमारे अन्नदाता हैं. सरकार किसानों के साथ कृषि कानून के हर मसले पर चर्चा करने को तैयार है, नए कानून किसानों की भलाई के लिए हैं. अगर किसी को कोई दिक्कत है तो सरकार चर्चा को तैयार है.'

    वहीं, विपक्ष के लिए राजनाथ सिंह ने कहा कि वो एक किसान परिवार में पैदा हुए हैं, ऐसे में वो राहुल गांधी से अधिक खेती के बारे में जानते हैं. कृषि कानूनों को किसानों की भलाई के लिए लाया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन