चीनी सैनिकों से हुई झड़प के बाद 4 जवानों की हालत गंभीर, आज जारी होगी 20 शहीदों की लिस्ट

चीनी सैनिकों से हुई झड़प के बाद 4 जवानों की हालत गंभीर, आज जारी होगी 20 शहीदों की लिस्ट
इस हिंसक झड़प के बाद सीमा पर हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. (PTI)

तीन घंटे चली यह झड़प दुनिया की दो एटमी ताकतों भारत और चीन (India-China) के बीच लद्दाख में 14 हजार फीट ऊंची गलवान घाटी में हुई. इसी गलवान घाटी (Ladakh Galwan Valley) में हुई 1962 की जंग में 33 भारतीयों की जान गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 17, 2020, 10:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीनी सैनिकों के साथ हुए हिंसक झड़प के बाद लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. सोमवार को लद्दाख के गलवान घाटी में LAC पर हुए हिंसक झड़प के बाद भारत के 20 जवान शहीद हो गए, जबकि 4 जवानों की हालत नाजुक है. न्यूज़ एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले से इसकी जानकारी दी. इस बीच भारतीय सेना (Indian Army) की ओर से आज शहीदों के नाम की लिस्ट जारी की जाएगी.

भारतीय सेना के मुताबिक, चीनी सेना के साथ ये झड़प 15-16 जून की की रात हुई. भारत सैनिकों का दल कमांडिंग अफसर कर्नल संतोष बाबू की अगुवाई में चीनी कैंप में गया था. भारतीय दल कोई हथियार लेकर नहीं गया था. तभी चीनी सैनिकों ने हमला किया. बॉल्डर, पत्थर, कंटीले तारों और कील लगे डंडों से हुए हमले में कमांडिग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू और दो जवान मौके पर शहीद हो गए थे. जबकि मंगलवार रात को 20 और जवानों के शहीद होने की पुष्टि हुई.


तीन घंटे चली यह झड़प दुनिया की दो एटमी ताकतों के बीच लद्दाख में 14 हजार फीट ऊंची गलवान घाटी में हुई. इसी गलवान घाटी में हुई 1962 की जंग में 33 भारतीयों की जान गई थी.



इस बीच खबर है कि इस हिंसक झड़प में चीन को भी भारी नुकसान हुआ है. ANI के मुताबिक, चीन के 43 सैनिक या तो मारे गए हैं या फिर बुरी तरह जख्मी हैं. हालांकि, चीनी मीडिया और सरकार ने इसपर चुप्पी साध रखी है.

उधर, USNews में छपी एक खबर के मुताबिक, अमेरिका इस पूरी स्थिति पर काफी गंभीरता से नज़र बनाए हुए है. भले ही चीन ने उसके नुकसान की कोई आधिकारिक पुष्टि न की हो, लेकिन अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसियों ने भी माना है कि चीन का भारत से ज्यादा नुकसान हुआ है. ख़ुफ़िया एजेंसियों के मुताबिक इस झड़प में चीन के कम से कम 35 सैनिक हताहत हुए हैं. इनमें चीनी सेना का एक सीनियर अफसर भी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें:- अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसियों ने भी माना- हिंसक झड़प में चीन के 35 सैनिक हताहत हुए

राहुल का सवाल- हमारे जवानों को मारने की चीन की हिम्मत कैसे हुई, चुप क्यों हैं PM?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज