भारत-चीन विवाद: राहुल गांधी बोले- बीजेपी कहती है Make In India, लेकिन करती है Buy Form China

भारत-चीन विवाद: राहुल गांधी बोले- बीजेपी कहती है Make In India, लेकिन करती है Buy Form China
राहुल गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने चीन से माल आयात (Import from china) करने पर टिप्पणी की है. राहुल ने एक ट्वीट कर चीन से आयात के मुद्दे पर सरकार पर निशाना साधा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 30, 2020, 11:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख स्थित गलवान में भारत और चीन के वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर (India-China Border Dispute) विवाद के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने चीन से माल आयात करने पर केंद्र की सत्ताधारी बीजेपी को घेरा है. भारत-चीन विवाद के बीच राहुल ने दावा किया है कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के दौरान चीन से आयात कम हुआ, जबकि भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाली राजग सरकार के कार्यकाल के दौरान चीन से खरीददारी यानी आयात ज्यादा हुआ.

राहुल ने एक ग्राफ शेयर कर लिखा है, 'बीजेपी कहती है मेक इन इंडिया लेकिन करती है बाय फ्रॉम चाइना. ग्राफ के जरिए राहुल ने दावा किया कि 'साल 2009 से साल 2014 के दरम्यां चीन से कुल अधिकतम आयात 14 फीसदी था जबकि मोदी सरकार ने यह अधिकतम 18 फीसदी तक जा पहुंचा है.'

कांग्रेस नेता ने लिखा - 'तथ्य झूठ नहीं बोलते.'



नियंत्रण रेखा पर विवाद के मद्देनजर बातचीत जारी
बता दें पूर्वी लद्दाख में कई जगहों पर पिछले सात सप्ताह से भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं. 15 जून को गलवान घाटी में हुए संघर्ष में 20 भारतीय जवानों के वीरगति को प्राप्त होने के बाद तनाव कई गुना बढ़ गया है. दूसरे दौर की वार्ता में 22 जून को दोनों पक्षों के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव वाले स्थानों पर ‘पीछे हटने’ के लिए ‘परस्पर सहमति’ बनी थी.

वहीं दूसरी ओर भारत सरकार ने चीन पर आत्मनिर्भरता कम करने के लिए एक ओर जहां आयात की जाने वाली वस्तुओं पर नियंत्रण लगाने के लिए कदम उठाए साथ ही सोमवार को 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया. कांग्रेस ने 59 चीनी ऐप पर रोक लगाने के फैसले का स्वागत करते हुए सोमवार को कहा कि केंद्र को और प्रभावशाली कदम उठाने चाहिए.

क्या पीएम केयर्स में मिले पैसे वापस करेगी सरकार- कांग्रेस
इससे पहले भारत ने लोकप्रिय टिकटॉक सहित 59 चीनी ऐप पर रोक लगाते हुए कहा कि ये देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के प्रति पूर्वाग्रही हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा कि चीन की सेना द्वारा भारतीय सेना पर हमले की पृष्ठभूमि में यह स्वागत योग्य फैसला है.

पटेल ने ट्विटर पर कहा, ' हम चीनी ऐप को प्रतिबंधित करने के फैसले का स्वागत करते हैं. हमारे क्षेत्र में घुसपैठ और चीनी सेना द्वारा हमारे सशस्त्र बलों पर अकारण हमले के मद्देनजर, हम उम्मीद करते हैं कि सरकार और अधिक प्रभावी कदम उठाएगी.' कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, ' चीनी ऐप पर रोक लगाना अच्छा विचार है, लेकिन चीनी दूरसंचार और अन्य कंपनियों से पीएम केयर्स कोष में मिले पैसों का क्या? अच्छा विचार है या बुरा.' (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading