• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • भारत के साथ तल्ख रिश्तों को खत्म करना चाहता है चीन? भारतीय विदेश मंत्रालय ने दिया ये जवाब

भारत के साथ तल्ख रिश्तों को खत्म करना चाहता है चीन? भारतीय विदेश मंत्रालय ने दिया ये जवाब

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा, दोनों पक्ष लंबित मुद्दों को शीघ्रता से हल करने के लिए सहमत हुए हैं.

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा, दोनों पक्ष लंबित मुद्दों को शीघ्रता से हल करने के लिए सहमत हुए हैं.

India-China Border Tension: विदेश मंत्रालय ने चीन के साथ सीमा विवाद पर कहा, हाल में हुई राजनयिक वार्ता में, दोनों पक्ष लंबित मुद्दों को शीघ्रता से हल करने के लिए सहमत हुए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. गलवान घाटी (Galwan Valley) में हुई हिंसक झड़प में भारतीय सैनिकों (Indian Army) की मौत के बाद से भारत और चीन के रिश्ते और भी ज्यादा बिगड़ गये हैं. दोनों देशों के बीच तल्खी और भी ज्यादा बढ़ गई है. इस बीच भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर का भारत और चीन के बीच सीमा विवाद मामले में बड़ा बयान सामने आया है. एस. जयशंकर मे कहा, सैनिकों के पूरी तरह से पीछे हटने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के अपनी-अपनी ओर नियमित चौकियों की तरफ भारत, चीन को सैनिकों की पुन: तैनाती किए जाने की आवश्यकता है.

    विदेश मंत्रालय ने चीन के साथ सीमा विवाद पर कहा, हाल में हुई राजनयिक वार्ता में, दोनों पक्ष लंबित मुद्दों को शीघ्रता से हल करने के लिए सहमत हुए.

    1962 के बाद अब स्थिति ज्यादा गंभीर
    इससे पहले विदेश मंत्री ने लद्दाख की स्थिति को 1962 के बाद से सबसे ज्यादा गंभीर करार दिया था. जयशंकर ने एक इंटरव्यू में कहा, अगर पिछले एक दशक को देखें तो चीन के साथ कई बार सीमा विवाद उभरा है- डेपसांग, चूमर और डोकलाम. हालांकि, सभी सीमा विवादों में एक बात जो निकलकर आती है वो ये है कि समाधान कूटनीति के जरिए ही किया जाना चाहिए.

    कुछ हद तक हर सीमा विवाद अलग तरह का रहा. मौजूदा विवाद भी कई मायनों में अलग है. उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से ये 1962 के बाद की सबसे गंभीर स्थिति है.

    भारत अपनी सुरक्षा के लिए उठाएगा जरूरी कदम
    विदेश मंत्री ने डोकलाम सहित चीन के साथ सीमा पर तनाव की घटनाओं का भी जिक्र किया और कहा कि भारत अपनी सीमाओं की सुरक्षा के लिये जो कुछ करना होगा, वह करेगा. उन्होंने कहा कि पिछले दशक में देपसांग, चुमार, डोकलाम आदि पर सीमा विवाद पैदा हुए. इसमें प्रत्येक एक दूसरे से अलग था. लेकिन इसमें एक बात समान थी कि इनका समाधान राजनयिक प्रयासों से हुआ.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज