India-China Rift: लद्दाख के एक और इलाके में जमा हुई चीनी सेना, देखे गए कैंप और गाड़ियां- रिपोर्ट

India-China Rift: लद्दाख के एक और इलाके में जमा हुई चीनी सेना, देखे गए कैंप और गाड़ियां- रिपोर्ट
लद्दाख में भारत-चीन सेना पर तनाव (फोटो-AP)

India-China Standoff: चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के उत्तर में देपसांग (Depsang) इलाके में बड़ी संख्या में सैनिक तैनात कर दिए हैं. इसके अलावा यहां सेना के भारी वाहन और सैन्य उपकरण भी देखे गए हैं.

  • Share this:
लद्दाख.  भारत और चीन (India-China Rift) के बीच पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी (Galwan Valley) में तनाव को कम करने की कोशिशें लगातार जारी है. इस बीच न्यूज़ एजेंसी PTI की खबर के मुताबिक, वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के उत्तर में देपसांग (Depsang) इलाके में भी चीन की सेना भारत की सीमा जमा हुई है. ऐसे में कहा जा रहा है कि दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ सकता है. बता दें कि 15 जून को गलवान में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे. ANI ने सूत्रों के हवाले से दावा किया था कि चीन के 43 सैनिक हताहत  हुए हैं. हालांकि, अभी तक चीन ने अपने मारे गए सैनिकों की संख्या नहीं बताई है.

कहां है देपसांग?
ये इलाका दौलत बेग ओल्डी के अहम हवाई पट्टी से दक्षिण-पूर्व में 30 किलोमीटर दूर है. ये एक बॉटलनेक इलाका है. यहां इसे वाई-जंक्शन भी कहा जाता है. इसका 18 किलोमीटर का इलाका भारतीय सीमा में है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने दावा किया है कि चीन ने यहां बड़ी संख्या में सैनिक तैनात कर दिए हैं. इसके अलावा यहां सेना के भारी वाहन और सैन्य उपकरण भी देखे गए हैं. अखबार के मुताबिक सेना ने इस खबर की न तो पुष्टि की है और ही इनकार किया है.

साल 2013 में भी यहां हुई थी झड़प
बता दें कि देपसांग में ही साल 2013 में चीन ने कई टेंट लगा लिए थे. दोनों देशों के सैनिकों के बीच यहां झड़प भी हुई थी. बाद में बातचीत के बाद मामला सुलझ गया था और चीन के सैनिक वापस अपनी जगह चले गए थे. इसके बाद भारतीय सेना ने नया पेट्रोलिंग बेस तैयार किया था.



ये भी पढ़ें:- पाकिस्तान आतंक पर काबू पाने में नाकाम, FATF की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा

बातचीत के लिए तैयार!
इस बीच चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा है कि भारत, रूस और चीन को अपने रिश्तों के समग्र हितों की रक्षा के लिए द्विपक्षीय संबंधों के 'संवेदनशील मुद्दों' को सही तरीके से संभालना चाहिए और ठीक तरीके से इससे निपटना चाहिए. चीन ने भारत के साथ जारी द्विपक्षीय मुद्दों को भी सही तरीके से निपटाए जाने पर प्रतिबद्धता जाहिर की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज