Indian-China Faceoff: पेंगोंग झील की पहाड़ियों पर कब्जा करते करने के बाद एक्शन में सेना, अब चीन को चौतरफा घेरने की तैयारी

Indian-China Faceoff: पेंगोंग झील की पहाड़ियों पर कब्जा करते करने के बाद एक्शन में सेना, अब चीन को चौतरफा घेरने की तैयारी
गलवान घाटी की घटना के बाद लिपुलेख और मिलम बॉर्डर पर भारी संख्या में सेना और आईटीबीपी के जवानों की तैनाती की गई है

India-China Standoff: 29-30 अगस्त की रात को हुई जवाबी कार्रवाई से चीन बौखलाया हुआ है. कहा जा रहा है कि सरकार ने सेना को एक्शन लेने के लिए खुली छूट दे दी है

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2020, 2:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लद्दाख में भारत और चीन (Indian-China Faceoff) के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव लगातार बरकरार है. पैंगोंग त्सो (Pangong Lake) झील में हुई तकरार के बाद विवाद और ज्यादा बढ़ गया है. भारतीय सेना ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) को पीछे ढकेल रणनीतिक रूप से एक अहम पोस्ट पर कब्जा कर लिया है. सूत्रों के मुताबिक चीन की हरकतों को देखते हुए भारत ने अपनी रणनीति में बदलाव भी किया है. अब भारत कूटनीतिक बातचीत के साथ एलएसी पर चीन के खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाए जाएंगे. बता दें कि भारत के पलटवार से चीन बौखलाया हुआ है.

सेना की रणनीति में बदलाव
29-30 अगस्त की रात को हुई जवाबी कार्रवाई से चीन बौखलाया हुआ है. कहा जा रहा है कि सरकार ने सेना को एक्शन लेने के लिए खुली छूट दे दी है. पिछले करीब चार महीने से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव लगातार बरकरार है. ऐसे में सेना ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है. पहले हमारी सेना आगे बढ़ कर दुश्मनों पर पहला हमला नहीं करती थी. लेकिन अब कहा जा रहा है कि चीन की हरकतों को देखते हुए नो फर्स्ट मूव की नीति को बदल दिया गया है. चीन पूर्वी लद्दाख में उल्टे भारत पर समझौतों के उल्लंघन करने का आरोप मढ़ने लगा है.





चीन के खिलाफ क्या है भारतीय सेना की तैनाती

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज