India-China Standoff: कम हो रहा है सीमा पर तनाव, पैंगॉन्ग फिंगर-4 से भी पीछे हटी चीन की सेना

India-China Standoff: कम हो रहा है सीमा पर तनाव, पैंगॉन्ग फिंगर-4 से भी पीछे हटी चीन की सेना
सांकेतिक तस्वीर

India-China Standoff: पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के सैनिकों के बीच 9 सप्ताह तक चली तनातनी के बाद विवाद वाली जगहों से सैनिकों को हटाने की प्रक्रिया औपचारिक रूप से सोमवार को शुरू हुई थी.

  • Share this:
लेह. पूर्वी लद्दाख में सीमा पर लगातार तनाव कम हो रहा है. वास्तविक सीमा रेखा (LAC) से दोनों देशों के सैनिक लगातार पीछे हट रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन की सेना पैंगॉन्ग सो (Pangong Tso)  के फिंगर-4 से पीछे हट गई है. बता दें कि गोग्रा और हॉट स्प्रिंग से गुरुवार को ही सैनिकों की वापसी पूरी हो गई थी. पैंगॉन्ग में दोनों देशों की सेनाएं पिछले करीब 9 हफ्ते से आमने सामने थी. चीनी सेना ने फिंगर-4 से अपने बोट, गाड़ियां, टेंट और बुलडोजर को हटा लिया है.

कई इलाकों से हटी पीछे
इससे पहले गुरुवार को खबर आई थी कि दोनों देशों की सेना हॉट स्प्रिंग इलाके से करीब 2 किलोमीटर तक पीछे हट गई है. कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में हालात को और बेहतर बनाने के लिए दोनों पक्षों के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर पर और भी कई दौर की बातचीत होगी. अब सारे इलाकों का वेरिफिकेशन किया जाएगा कि सेना वहां से पूरी तरह हटी है या नहीं. दोनों पक्षों ने विवाद के तीन बिन्दुओं-गलवान घाटी, गोग्रा और हॉट स्प्रिंग में अस्थायी कदम के तौर पर तीन किलोमीटर का बफर जोन बनाने का काम पूरा कर लिया है.

लगातार होगी बातचीत
पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के सैनिकों के बीच 9 सप्ताह तक चली तनातनी के बाद विवाद वाली जगहों से सैनिकों को हटाने की प्रक्रिया औपचारिक रूप से सोमवार को शुरू हुई थी. इस बीच, घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले लोगों ने कहा कि दोनों पक्ष सीमा विवाद पर शुक्रवार को एक और दौर की ऑनलाइन बैठक करेंगे. ये बैठक भारत-चीन सीमा मामलों से संबंधित विचार और समन्वय तंत्र के तहत होगी. विदेश मंत्रालय में पूर्वी एशिया मामलों के संयुक्त सचिव नवीन श्रीवास्तव चीनी विदेश मंत्रालय में महानिदेशक वु जियांगहाओ के साथ बात करेंगे.



अजीत डोभाल ने की थी बात
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने अपनी ब्रीफिंग में कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने गलवान घाटी क्षेत्र सहित एलएसी पर हालिया घटनाक्रम के बारे में चीनी विदेश मंत्री वांग यी को रविवार को भारत की स्थिति से स्पष्ट रूप से बताया. डोभाल और वांग सीमा वार्ता के लिए विशेष प्रतिनिधि हैं जिन्होंने रविवार को फोन पर बात की थी। इसके बाद दोनों देशों की सेनाओं ने पूर्वी लद्दाख में विवाद वाले स्थलों से पीछे हटना शुरू कर दिया था.

चीन के दावे को किया खारिज
इस बीच, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक मीडिया ब्रीफिंग में गलवान घाटी पर चीन के दावे को एक बार फिर खारिज किया, लेकिन दोहराया कि भारत सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति और स्थिरता की बहाली और वार्ता के माध्यम से मतभेदों के समाधान की आवश्यकता को समझता है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारत अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है. (पीटीआई इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading