चीन पर आक्रमक हुआ अमेरिका, कानूनी संशोधन पास, कहा- 'कोरोना के बहाने भारतीय हिस्सा कब्जाने की साजिश'

चीन पर आक्रमक हुआ अमेरिका, कानूनी संशोधन पास, कहा- 'कोरोना के बहाने भारतीय हिस्सा कब्जाने की साजिश'
NDAA संशोधन के मुताबिक भारत और चीन को एलओसी पर तनाव और संघर्ष को कम करने के लिए काम करना चाहिए.

अमेरिका (America) ने भारत के खिलाफ चीन की आक्रामकता की आलोचना की है. इसके साथ ही अमेरिका द्वारा चीन के खिलाफ संवैधानिक संशोधन (Constitutional Amendment) को एकमत से पास कर दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 21, 2020, 11:58 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन/नई दिल्ली. गलवान घाटी (Galvan Valley) में हुए खूनी संघर्ष के बाद पूरे विश्व की निगाहें भारत-चीन (India-China) के रिश्ते पर टिकी हुई हैं. इसी बीच अमेरिका (America) ने भारत के खिलाफ चीन की आक्रामकता की आलोचना की है. इसके साथ ही अमेरिका द्वारा चीन के खिलाफ संवैधानिक संशोधन (Constitutional Amendment) को एकमत से पास कर दिया गया है. मंगलवार को अमेरिका के हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में नेशनल डिफेंस ऑथराइजेशन एक्ट (NDAA) में संशोधन पास कर दिया गया है. इसमें चीन के व्यवहार पर भी चिंता जताई गई है.

अमेरिका ने आरोप लगाया है कि चीन कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बहाने भारतीय क्षेत्र पर कब्जा करना चाहता था. बता दें कि पिछले महीने लद्दाख (Ladakh) की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प और दक्षिण चीन सागर को लेकर अमेरिका, चीन पर लगातार हमले बोल रहा है.

चीन की आक्रामकता चिंता का विषय
अमेरिका के हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में NDAA संशोधन भारतीय-अमेरिकी सांसद अमी बेरा और कांग्रेस मेन स्टीव शैबट ने पेश किया था. NDAA संशोधन के मुताबिक भारत और चीन को एलओसी (LAC) पर तनाव और संघर्ष को कम करने के लिए काम करना चाहिए. संशोधन में कहा गया है कि चीन द्वारा दक्षिण चीन सागर, एलएसी और सेंकाकू टापू विवादित क्षेत्रों के आसपास लगातार विस्तार करना और आक्रामकता चिंता का विषय है. इसमें कहा गया है कि चीन ने कोरोना वायरस को बहाना बनाकर भारत के क्षेत्र पर कब्जा करने की कोशिश की है. सिर्फ इतना ही नहीं दक्षिण चीन सागर पर भी अपना दावा ठोका.
india china relations, india china tension, india china border dispute, galwan valley tension, india china defense strategy, भारत चीन संबंध, भारत चीन तनाव, भारत चीन सीमा विवाद, गलवान घाटी तनाव, भारत चीन सैन्य रणनीति
इस संशोधन में कहा गया है कि 15 जून तक चीन ने एलएसी पर 5 हजार सैनिक तैनात किए.




चीन के रवैये पर जाहिर की चिंता
न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, अमेरिका की संसद कांग्रेस ने भारत-चीन सीमा पर गलवान घाटी में चीन की आक्रामकता का विरोध किया है. इसके साथ ही चीन के बढ़ते क्षेत्रीय रवैये पर भी चिंता जाहिर की है.

एलएसी पर 15 हजार सैनिकों को किया तैनात
इस संशोधन में कहा गया है कि 15 जून तक चीन ने एलएसी पर 5 हजार सैनिक तैनात किए और 1962 के बाद भारत की जमीन घोषित किए गए क्षेत्र पर विवाद होने के बाद उसमें कदम रखा. अमेरिका संसद को संबोधित करते हुए स्टीव ने कहा, 'मैं भारत का समर्थन करता हूं और अपने द्विपक्षीय संबंध का समर्थन करता हूं. भारत इंडो-पैसिफिक में एक अहम लोकतांत्रिक पार्टनर हैं. स्टीव ने आगे बोलते हुए कहा, मैं उन क्षेत्रीय सहयोगियों के साथ भी खड़ा हूं जो चीन की आक्रामकता का सामना कर रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज