नगरोटा एनकाउंटर के बाद भारत ने सख्त किया रुख, पाकिस्तान के उच्चायुक्त को किया तलब

कश्मीर के नगरोटा में पुलिस ने सीमा पार से आए चार आतंकियों को एनकाउंटर में मार गिराया था. (PTI फोटो)
कश्मीर के नगरोटा में पुलिस ने सीमा पार से आए चार आतंकियों को एनकाउंटर में मार गिराया था. (PTI फोटो)

Nagrota Encounter: जम्मू के नगरोटा में गुरुवार को हुए एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के थे और पाकिस्तान में बैठे जैश सरगना मसूद अजहर के भाई रऊफ लाला से लगातार संपर्क में थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2020, 12:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के नगरोटा (Nagrota) में दो दिन पहले आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ को लेकर भारत ने पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ नाराजगी जताई है. विदेश मंत्रालय ने इस मामले में शनिवार को दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त को तलब किया. भारत ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि वो अपनी सरजमीं से चलने वाली आतंकी गतिविधियों को बंद करे. सूत्रों के मुताबिक भारत ने ये भी कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के हितों को देखते हुए भारत कोई भी कदम उठाने के लिए तैयार है.

आंतकियों का पाकिस्तान से कनेक्शन
जम्मू के नगरोटा में गुरुवार को हुए एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के थे. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक ये सभी आतंकी डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव के दौरान बड़े हमले के मकसद से भेजे गए थे और पाकिस्तान में बैठे जैश सरगना मसूद अजहर के भाई रऊफ लाला से लगातार संपर्क में थे. जांच एजेंसियों ने बताया कि जिस समय आतंकियों का एनकाउंटर किया गया उस वक्त भी रऊफ लाला इन सभी आतंकियों को निर्देश दे रहा था.





भारत को मिले सबूत
जांच एजेंसियों को इस बात के अब पुख्ता सबूत हाथ लग गए हैं कि जैश के इन आतंकियों को पाकिस्तान से भेजा गया था और वहीं से उन्हें निर्देश भी दिए जा रहे थे. जांच एजेसी को आतंकियों के पास से पाकिस्तान की एक कंपनी का डिजिटल मोबाइल रेडियो मिला है. यही नहीं आतंकियों के पास से जो मोबाइल मिले हैं, उसके मैसेज देखने के बाद साफ हो जाता है कि आतंकी लगातार पाकिस्तान में बैठे आकाओं के संपर्क में थे. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक डिजिटल मोबाइल रेडियो को पाकिस्तान की कंपनी माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक्स बनाती है.

ये भी पढ़ें:- मास्क ही नहीं, घर के बाहर यह 4 चार काम करने पर भी कटेगा 2 हज़ार रुपये का चालान

पीएम मोदी ने की थी बैठक
पीएम मोदी ने मामले को लेकर एक समीक्षा मीटिंग बुलाई थी, जिसमें गृहमंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला शामिल हुए थे. सुरक्षाबलों की इस जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बधाई दी थी. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था कि एक बार फिर हमारे जवानों ने आतंकियों की तबाही की कोशिश को नाकाम कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज