Assembly Banner 2021

भारत में कोरोना वैक्सीन लगाने की दर दुनिया में सबसे अधिक, डॉ. हर्षवर्धन ने लोकसभा में कहा

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन. (File)

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन. (File)

Coronavirus Pandemic: भारत में कोविड-19 के मामले दोगुना होने की अवधि एक मार्च को 504.4 दिन थी, जो 23 मार्च को घट कर 202.3 दिन हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 7:36 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. देश में अब तक 4.8 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 रोधी टीके (Coronavirus Vaccine) लग चुके हैं. इनमें से सिर्फ अकेले 22 मार्च को ही 32.53 लाख से अधिक लोगों को टीके लगाए गए हैं. इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) ने मंगलवार को कहा कि देश में टीकाकरण (Coronavirus Vaccination) की दर सबसे अधिक है. लोकसभा को जानकारी देते हुए हर्षवर्धन ने कहा, "भारत में सबसे तेज़ गति से कोरोना के खिलाफ टीकाकरण किया जा रहा है. बाकी देशों में जितनी वैक्सीन रोज़ाना मिलकर लगाई जा रही है, उसकी 30% से 40% वैक्सीन रोज़ाना सिर्फ भारत में लगाई जा रही है."


दूसरी ओर, आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार सुबह सात बजे देश में कुल 4,84,94,594 लोगों को कोविड-19 रोधी टीके लगाए जा चुके थे. इनमें से 4,06,31,153 लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई है. टीका लगवाने वाले 4,84,94,594 लोगों में से 78,59,579 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली खुराक और 49,59,964 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है. वहीं अग्रिम मोर्च पर तैनात 82,42,127 कर्मियों को टीके की पहली खुराक और 29,03,477 कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है. किसी बीमारी से ग्रसित 45 साल से अधिक और 60 वर्ष तक आयु के 42,98,310 लोगों को टीके की पहली खुराक दी गई है, वहीं 60 से अधिक आयु के 2,02,31,137 वरिष्ठ नागरिकों को टीके की पहली खुराक दी गई है.





इस बीच, आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 40,715 नए मामले सामने आए, जिनमें से 80.90 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात, छत्तीसगढ़ और तमिलनाडु से थे. इन राज्यों में से महाराष्ट्र में सबसे अधिक 24,645 (60.53 प्रतिशत) नए मामले सामने आए. पंजाब में 2,299 और गुजरात में 1,640 नए मामले सामने आए.


Youtube Video



मंत्रालय ने बताया कि महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, मध्य प्रदेश, दिल्ली, तमिलनाडु, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, हरियाणा और राजस्थान ऐसे राज्य हैं, जहां रोजाना सामने आने वाले कोविड-19 के नए मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. मंत्रालय ने रेखांकित किया कि भारत में लगातार उपचाराधीन मरीजों की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है, जो कि मध्य फरवरी में अपने सबसे निचले स्तर पर थी.


आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी 3,45,377 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, पिछले 24 घंटे में इनमें 10,731 मामलों का इजाफा हुआ है. इनमें से 75.15 प्रतिशत उपचाराधीन मरीज महाराष्ट्र, केरल और पंजाब के हैं. आंकड़ों के अनुसार, देश में एक मार्च को वायरस के मामले दोगुना होने का समय 504.4 दिन था, जो कि 23 मार्च को घटकर 202.3 दिन हो गया.




केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार की सुबह आठ बजे जारी किए गए अपडेट आंकड़ों के अनुसार, देश में 199 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,60,166 हो गई. कोविड-19 से मृत्यु दर देश में 1.37 प्रतिशत है. आंकड़ों के अनुसार, देश में कुल 1,11,81,253 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. हालांकि मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर और अधिक गिरावट के साथ 95.67 प्रतिशत हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज