मेक इन इंडिया का कमाल: 84 देशों को रक्षा उपकरण बेच रहा है भारत

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री ने इस संबंध में जानकारी दी है.  (सांकेतिक तस्वीर)

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री ने इस संबंध में जानकारी दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

रक्षा राज्य मंत्री श्रीपाद नाईक (Shripad Naik) ने बुधवार को बीते पांच वर्षों के दौरान एक्सपोर्ट किए गए महत्वपूर्ण उपकरणों की लिस्ट जारी की है. लोकसभा (Lok Sabha) में एक सवाल के लिखित जवाब में मंत्री ने इस संबंध में जानकारी दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 8:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत इस वक्त दुनिया के 84 देशों को रक्षा उपकरण (Defence Eqipments) बेच रहा है. रक्षा राज्य मंत्री श्रीपाद नाईक (Shripad Naik) ने बुधवार को बीते पांच वर्षों के दौरान एक्सपोर्ट किए गए महत्वपूर्ण उपकरणों की लिस्ट जारी की है. लोकसभा (Lok Sabha) में एक सवाल के लिखित जवाब में मंत्री ने इस संबंध में जानकारी दी है. हालांकि उन्होंने उन देशों के नाम का खुलासा 'रणनीतिक वजहों' से नहीं किया है.

एक्सपोर्ट किए जा रहे रक्षा उपकरणों में टियर गैस लॉन्चर, वेपन स्टिमुलेटर, टॉपरपीडो, नाइट विजन मोनोक्यूलर सहित कई उपकरण शामिल हैं. गौरतलब है कि मोदी सरकार न सिर्फ रक्षा उपकरणों का एक्सपोर्ट कर रही है बल्कि देश में इनके निर्माण में तेजी आई है. बीते महीने सरकार ने 83 तेजस लाइट कॉम्बैट विमानों की डील पर साइन कर दिया था. यह औपचारिक प्रक्रिया बेंगलुरु में आयोजित एयरो इंडिया 2021 कार्यक्रम के दौरान की गई. इन विमानों का निर्माण हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड करेगा. खास बात है कि इसे स्वदेशी मिलिट्री एविएशन सेक्टर की सबसे बड़ी डील माना जा रहा है.

तेजस में क्या है खास

HAL की तरफ से बनाया जा रहा तेजस सिंगल इंजन का फुर्तीला विमान है. यह मल्टी रोल सुपरसॉनिक लड़ाकू विमान गंभीर वायु वातावरण में काम करने में सक्षम है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की अध्यक्षता वाली कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी (CCS) ने बीते महीने 73 तेजस Mk-IA विमानों और 10 LCA तेजस Mk-I ट्रेनर एयरक्राफ्ट की डील को मंजूरी दी थी. इससे भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) की ताकत में काफी इजाफा होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज