UNHRC में पाकिस्तान को बेनकाब कर रहा भारत, बोला-अपहरण और हत्याएं कर रही पाक सेना

मानवाधिकार परिषद में भारत लगातार पाकिस्तान को बेनकाब कर रहा है.  (फाइल फोटो)
मानवाधिकार परिषद में भारत लगातार पाकिस्तान को बेनकाब कर रहा है. (फाइल फोटो)

UNHRC के 45वें सत्र में भारतीय स्थाई मिशन के फर्स्ट सेक्रेटरी सेंथिल कुमार (Senthil Kumar) ने एक-एक कर पाकिस्तान की करतूत गिनाई हैं. उन्होंने कहा-मैं परिषद का ध्यान पाकिस्तान में धार्मिक और एथनिक हिंसा की भयावह स्थिति की तरफ दिलाना चाहूंगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 8:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मानवाधिकारों (Human Rights) की बदतर हालत पर पाकिस्तान को भारत हर दिन संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में बेनकाब कर रहा है. UNHRC के 45वें सत्र में भारतीय स्थाई मिशन के फर्स्ट सेक्रेटरी सेंथिल कुमार (Senthil Kumar) ने एक-एक कर पाकिस्तान की करतूत गिनाई हैं. उन्होंने कहा-मैं परिषद का ध्यान पाकिस्तान में धार्मिक और एथनिक हिंसा की भयावह स्थिति की तरफ दिलाना चाहूंगा.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के बलोचिस्तान में जबरिया अपहरण, गैरन्यायिक हत्याओं, प्रताड़ना, हत्याओं का दौर चल रहा है. ये सब कुछ पाकिस्तानी सेना कर रही है. ये बेहद चिंता का विषय है कि पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय बहुत तेजी का साथ कम हुआ है. पाकिस्तान में 1947 में अल्पसंख्यक समुदाय की जनसंख्या 23 प्रतिशत हुआ करती थी. वहीं पाक अधिकृत कश्मीर से कश्मीरी लोगों को हटाया जा रहा है.


गौरतलब है कि दो दिन पहले भी भारत ने मानवाधिकार परिषद का ध्यान पाकिस्तान की स्थितियों की तरफ दिलाया था. सेंथिल कुमार ने अंतरराष्ट्रीय एजेंसी का ध्यान पाकिस्तानी पत्रकारों की प्रताड़ना की तरफ भी दिलाया. पत्रकार मार्वी सिर्मेद, अहमद नूरानी, गुल बुखारी, मानवाधिकार कार्यकर्ता इदरीश खटक की तरफ इशारा करते हुए सेंथिल कुमार ने कहा-धमकियों, मारपीट के जरिए पत्रकारों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है.



इसके अलावा भारत ने पाकिस्तान में हत्याओं, कस्टोडियल डेथ, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को शोषण सहित अन्य मामलों पर डिटेल जानकारी दी. भारत ने कहा है कि बड़ी संख्या में कश्मीरियों को गुप्त हिरासत में रखा गया है. सुरक्षा बल इन लोगों को बुरी तरह प्रताड़ित करते हैं. साथ ही पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय की हालत दयनीय है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज