भारत ने तेल कीमतों में वृद्धि पर चिंता जताई, सऊदी अरब के पेट्रोलियम मंत्री से की बात

होमुर्ज जलडमरू पर ईरानी बलों द्वारा अमेरिकी नौसेना के एक ड्रोन को गिराए जाने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा ईरान के खिलाफ और कड़ा रुख अख्तियार करने के बाद क्षेत्र में तनाव की स्थिति है.

News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 11:00 PM IST
भारत ने तेल कीमतों में वृद्धि पर चिंता जताई, सऊदी अरब के पेट्रोलियम मंत्री से की बात
भारत ने तेल की बढ़ती कीमतों पर चिंता जताते हुए ओपेक के मुख्य सदस्य देश सऊदी अरब को तेल की कीमतों को काबू में रखने के लिए सक्रिय भूमिका निभाने को कहा है (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 11:00 PM IST
भारत ने होर्मुज जलडमरू मध्य से जुड़े घटनाक्रमों के कारण तेल की कीमतों में बढ़ोतरी पर शुक्रवार को चिंता जाहिर की. उसने ओपेक के मुख्य सदस्य देश सऊदी अरब को तेल की कीमतों को काबू में रखने के लिए सक्रिय भूमिका निभाने को कहा.

ब्रेंट कच्चे तेल की कीमत में गुरुवार को करीब पांच प्रतिशत का उछाल दर्ज किया गया था, जो जनवरी के बाद से सर्वाधिक है. ब्रेंट कच्चे तेल की कीमत फिलहाल 65 डॉलर प्रति बैरल है.

गौरतलब है कि जलडमरू पर ईरानी बलों द्वारा अमेरिकी नौसेना के एक ड्रोन को गिराए जाने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा ईरान के खिलाफ और कड़ा रुख अख्तियार करने के बाद क्षेत्र में तनाव की स्थिति है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सऊदी के पेट्रोलियम मंत्री खालिद अल फलीह से हालात पर चर्चा की.

धर्मेंद्र प्रधान ने किया ट्वीट

धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट किया, "होर्मुज जलडमरू मध्य की घटना चिंता की बात है जिससे जिससे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है." उन्होंने तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव को लेकर भारतीय ग्राहकों की संवेदनशीलता का जिक्र किया.



पेट्रोलियम मंत्री ने लिखा, "सऊदी अरब के ऊर्जा, उद्योग और खनिज संसाधन मंत्री खालिद अल फलीह से फोन पर बात हुई. भारत और सऊदी अरब के बीच रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत बनाने के लिए हाइड्रोकार्बन क्षेत्र में सहयोग को और बढ़ाने पर चर्चा हुई."


बता दें कि इस हफ्ते की शुरुआत में धर्मेंद्र प्रधान ने यूएई मंत्री और अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी (ADNOC) के सीईओ सुल्तान अहमद अल जाबेर से बात की. सुल्तान अहमद ने प्रधान को आश्वासन दिया था कि होर्मुज जलडमरू में व्यवधान के बावजूद भारत के तेल और रसोई गैस की निर्बाध आपूर्ति जारी रहेगी.

ये भी पढ़ें: ट्रंप ने ईरान पर हमले की इजाजत दी, फिर यूं पलट दिया फैसला
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...