अरुणाचल में देश की पहली सौर आधारित जलापूर्ति परियोजना की हुई शुरुआत

28.50 करोड़ रुपये की लागत से शुरू की गई है सौर-आधारित एकीकृत बहु-ग्राम जल आपूर्ति परियोजना.
28.50 करोड़ रुपये की लागत से शुरू की गई है सौर-आधारित एकीकृत बहु-ग्राम जल आपूर्ति परियोजना.

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने शुक्रवार को इस परिजोना को जनता को समर्पित किया. 28.50 करोड़ रुपये की लागत से शुरू हुई इस परियोजना से 39 गांवों को जलापूर्ति की जा सकेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2020, 11:36 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अरुणाचल प्रदेश के लोअर दिबांग वैली जिले में शुक्रवार को भारत के पहले सौर-आधारित एकीकृत बहु-ग्राम जल आपूर्ति परियोजना (IMVWSP) की शुरुआत की गई. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने शुक्रवार को इस परिजोना को जनता को समर्पित किया. 28.50 करोड़ रुपये की लागत से शुरू हुई इस परियोजना से 39 गांवों को जलापूर्ति की जा सकेगी.

मुख्यमंत्री पेमा खांडू की उपस्थिति में IMVWSP का उद्घाटन करते हुए केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस परियोजना की सराहना की क्योंकि यह न केवल पूर्वोत्तर राज्य में बल्कि पूरे देश में अपनी तरह का पहली जलापूर्ति परियोजना है. उन्होंने कहा कि यह परियोजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बहु संसाधन इस्तेमाल की दृष्टि के अनुरूप है और इस तरह के मॉडल का इस्तेमाल देश के अन्य हिस्सों में भी किया जाना चाहिए.

इस खास मौके पर मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि यह परियोजना 17,480 लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए बनाई गई है. सीएम खांडू ने कहा कि इस एकीकृत परियोजना के जरिए पीने के पानी, हरित ऊर्जा और पर्यटन को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी.
इसे भी पढ़ें :- Video: 16,000 फीट की ऊंचाई पर गाड़ी चला रहे CM पेमा खांडू और रिजिजू



खंडू ने कहा, यह परियोजना उस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने की परिकल्पना करती है जहां लोग जाना तो चाहते हैं कि जरूरी सुविधाओं के आभाव में वहां जाने से बचते हैं. उन्होंने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में ये परियोजना काफी कारगर साबित हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज