Assembly Banner 2021

भारत ने COVID-19 रोगियों के इलाज के लिये नेपाल को रेमडेसिविर दवा उपहार में दी

भारत सरकार की ओर से रेमडेसिविर दवा की 2,000 से अधिक शीशियां मंगलवार को विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ज्ञावली को सौंपी गई हैं (सांकेतिक फोटो)

भारत सरकार की ओर से रेमडेसिविर दवा की 2,000 से अधिक शीशियां मंगलवार को विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ज्ञावली को सौंपी गई हैं (सांकेतिक फोटो)

दवाएं भारत सरकार को अपने पड़ोसी राष्ट्र को कोविड-19 (COVID-19) के खिलाफ लड़ाई के लिए जारी सहायता का एक हिस्सा हैं. "इसके तहत नेपाल को 9 अगस्त को आईसीयू वेंटिलेटर (ICU Ventilator), 17 मई को कोविड-19 परीक्षण किट (RT-PCR) और 22 अप्रैल को पैरासिटामॉल (Paracetamol) और हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) सहित आवश्यक दवाएं मदद के रूप में दी गई हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2020, 10:46 PM IST
  • Share this:
काठमांडू. भारत ने नेपाल (Nepal) को कोविड-19 रोगियों (Covid-19 Patients) के लिये इलाज के लिये रेमडेसिविर दवा भेजी है. काठमांडू (Kathmandu) में स्थित भारतीय दूतावास (Indian Embassy) की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि नेपाल में भारत के राजदूत (Ambassador) विनय मोहन क्वात्रा ने भारत सरकार की ओर से रेमडेसिविर (Remdesivir) दवा की 2,000 से अधिक शीशियां (vials) मंगलवार को विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ज्ञावली को सौंपी हैं. भारत सरकार ने कोविड-19 से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने में सहयोग के तौर पर नेपाल को ये दवा भेजी है.

दूतावास की ओर से कहा गया है कि दवाएं भारत सरकार को अपने पड़ोसी राष्ट्र को कोविड-19 (COVID-19) के खिलाफ लड़ाई के लिए जारी सहायता का एक हिस्सा हैं. "इसके तहत नेपाल को 9 अगस्त को आईसीयू वेंटिलेटर (ICU Ventilator), 17 मई को कोविड-19 परीक्षण किट (RT-PCR) और 22 अप्रैल को पैरासिटामॉल (Paracetamol) और हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) सहित आवश्यक दवाएं मदद के रूप में दी गई हैं." प्रेस वक्तव्य में कहा गया, "एक करीबी दोस्त और पड़ोसी के रूप में, भारत, नेपाल सरकार और नेपाल के लोगों के साथ महामारी के खिलाफ उनकी लड़ाई में एकजुट होकर खड़ी है."

रेमडेसिवीर को रिकवरी का समय घटाने में पाया गया है कारगर
रेमडेसिविर को ऑक्सीजन थेरेपी ले रहे गंभीर रूप से बीमार रोगियों से लेकर मध्यम रूप से बीमार मरीजों के इलाज के लिए व्यापक तौर पर इस्तेमाल होने वाली एंटी-वायरल दवा माना जाता है. चिकित्सा अनुसंधान के अनुसार, दवा अस्पताल में रहने की अवधि को काफी कम करने और रोगियों के रिकवरी समय को कम करने में भी कारगर साबित हुई है. उन्होंने बताया कि भारत ने रविवार को हिमालयी राष्ट्र के पांच जिलों में बाढ़ और भूस्खलन प्रभावित परिवारों को वितरण के लिए टेंट और प्लास्टिक शीट सहित नेपाल में आपदा राहत सामग्री की एक भी खेप भेंट की.
यह भी पढ़ें: भारत की 3 कंपनियां कोरोना वैक्‍सीन बनाने के करीब, सीरम का ट्रायल तीसरे फेज में



यह खेप नेपाल में भारत के उप राजदूत नामग्या खम्पा की ओर से नेपाल की संसद सदस्य और नेपाल-भारत महिला मैत्री सोसायटी (NIWFS) की अध्यक्ष चंदा चौधरी को सौंपी गई है. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज