अपना शहर चुनें

States

इमरान खान को भारत ने दिया कड़ा जवाब- नए पाकिस्‍तान में आतंकियों के साथ दिखते हैं मंत्री

इमरान खान के सबूत मांगने के बयान पर विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्‍तान दुनिया को गुमराह करना बंद करे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2019, 8:21 AM IST
  • Share this:
भारत ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के पुलवामा हमले को लेकर दिए बयान पर जवाब दिया है. इमरान खान के सबूत मांगने के बयान पर विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्‍तान दुनिया को गुमराह करना बंद करे. सबको पता है कि जैश ए मोहम्‍मद और उसका सरगना मसूद अजहर पाकिस्‍तान में है. जैश ने पुलवामा हमले की जिम्‍मेदारी भी ली है. यह कार्रवाई करने के लिए अपने आप में ही पर्याप्‍त सबूत है. बता दें कि पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान ने भारत से पुलवामा हमले के सबूत मांगे थे. उन्‍होंने कहा था कि सबूत दिए जाने पर वे जरूर कार्रवाई करेंगे.

विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया कि पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ने सबूत दिए जाने पर जांच का प्रस्‍ताव रखा. यह गुमराह करने वाला है. 26/11 मुंबई हमले के सबूत पाकिस्‍तान को दिए गए. इसके बावजूद 10 साल बाद भी इस मामले में कुछ नहीं हुआ. इसी तरह से पठानकोट आतंकी हमले में भी कुछ नहीं हुआ. पाकिस्‍तान के पुराने रिकॉर्ड को देखने पर पता चलता है कि उसका 'शर्तिया कार्रवाई' का वादा कितना खोखला है. नए पाकिस्‍तान में मंत्री हाफिज सईद जैसे आतंकियों के साथ मंच पर नजर आते हैं.

विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ने वार्ता और आतंक को लेकर बातचीत को तैयार रहने की इच्‍छा जताई है. भारत ने बार-बार कहा है कि वह हिंसा और आतंक रहित माहौल में विस्‍तार से द्विपक्षीय बातचीत के तैयार है.



विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्‍तान का यह दावा है कि वह आतंकवाद का सबसे बड़ा शिकार है. लेकिन यह हकीकत नहीं है. अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय को भी पाकिस्‍तान की सच्‍चाई पता है कि वह आतंकवाद का केंद्र है.
इससे पहले जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकवादी हमले को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ी. हालांकि इस हमले को लेकर अपने पहले आधिकारिक बयान में इमरान खान ने भारत के लगाए तमाम आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि हम पर बिना किसी सबूत आरोप लगाए गए हैं.

उन्‍होंने कहा, 'भारत सरकार हमें सबूत दें कि पुलवामा हमले में पाकिस्‍तान का हाथ है. मैं खुद इस पर एक्‍शन लूंगा. उन्‍होंने कहा कि जब भी हिंदुस्तान से हम बातचीत की बात करते हैं हिंदुस्तान कहता है, पहले दहशतगर्दी खत्म करो.'

पाकिस्तानी पीएम ने धमकी भरे अंदाज में कहा, 'अगर आप (भारत) हम पर हमला करेंगे तो हम इसका जवाब देने में सोचेंगे नहीं. हम सभी जानते हैं कि जंग शुरू करना इंसानों के हाथ में है, लेकिन इसका अंजाम क्या होगा केवल ऊपरवाला जानता है. इमरान ने कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच जो भी मसला (मुद्दा) है उसे बातचीत से सुलझाया जाना चाहिए.'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज