Covid-19: दूसरी लहर के कहर से उबर रहा है भारत, जानें फिर भी अभी सब ठीक क्यों नहीं है

कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में भारत सबसे आगे है. 
(फाइल फोटो)

कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में भारत सबसे आगे है. (फाइल फोटो)

Coronavirus Second Wave: विशेषज्ञों का मानना है कि अगले कुछ महीनों में कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave) आ सकती है. इन सबके बीच आइए जानते हैं कि फिलहाल भारत किस मोड़ पर खड़ा है और कैसे अभी भी स्थिति सामान्य होना मान लेना गलत है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) के 2,85,74,350 मामले पुष्ट पाए गए हैं जबकि संक्रमण से स्वस्थ होने की दर 93 प्रतिशत से ऊपर हो गई. देश में मृतकों की संख्या जहां 3,40,702 हो चुकी है, तो वहीं एक्टिव केस की संख्या 20 लाख से कम पहुंच चुकी है. अब तक कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 2,65,97,655 हो चुकी है.

इस साल अप्रैल और मई के महीने में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने देश में तबाही मचा कर रख दी. हर दिन मौतों की संख्या बढ़ती रही और नए मामलों के पाए जाने का क्रम 4 लाख के पार तक चला गया. हालांकि अब स्थिति थोड़ी बेहतर लग रही है लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि अगले कुछ महीनों में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है. इन सबके बीच आइए जानते हैं कि फिलहाल भारत किस मोड़ पर खड़ा है और कैसे अभी भी स्थिति सामान्य होना मान लेना गलत है.

एक्टिव केस के मामले में भारत नंबर 2 पर है. फिलहाल देश में 16,35,993 लोगों का इलाज जारी है. फिलहाल सबसे ज्यादा एक्टिव केस अमेरिका में हैं. अमेरिका में साढ़े 55 लाख लोगों का इलाज जारी है. देश में अभी भी करीब 8944 ऐसे मामले हैं जो काफी गंभीर स्थिति में यानी सीरियस हैं. वहीं ब्राजील में सीरियस मामलों की संख्या 8318 है. वहीं अमेरिका में 5,807 मामले गंभीर है. ऐसे में भारत यहां भी नंबर 2 पर है.

कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में भारत सबसे आगे हैं. शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार देश में 2713 लोगों की मौत हुई वहीं ब्राजील में यह आंकड़ा 2,078 है. अमेरिका में मृतकों की संख्या 574 है.


भारत में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान मई के में कुछ दिनों तक लगातार 4 लाख से ज्यादा नए मामले दर्ज किए जा रहे थे. अब यह संख्या गिरकर 1 लाख 30 हजार तक पहुंच गई है. लेकिन अब भी दुनिया के औसत के हिसाब से देखें तो भारत बहुत आगे है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज