होम /न्यूज /राष्ट्र /कश्‍मीर मुद्दा: भारत का तुर्की पर पलटवार, कहा- राष्‍ट्रपति एर्दोगन को ना इतिहास की समझ है और ना ही कूटनीति की

कश्‍मीर मुद्दा: भारत का तुर्की पर पलटवार, कहा- राष्‍ट्रपति एर्दोगन को ना इतिहास की समझ है और ना ही कूटनीति की

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयब एर्दोगन के कश्‍मीर पर दिए बयान पर तीखा पलटवार किया है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयब एर्दोगन के कश्‍मीर पर दिए बयान पर तीखा पलटवार किया है.

विदेश मंत्रालय (MEA) के प्रवक्‍ता रवीश कुमार (Raveesh Kumar) ने पाकिस्‍तान की ओर से सीमापार भारत में फैलाए जा रहे आतंकव ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्‍ली. भारत ने जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-kashmir) मुद्दे को लेकर तुर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयब एर्दोगन (Recep Tayyip Erdogan) के पाकिस्‍तान की संसद में दिए बयान का कड़ा विरोध किया है. पाकिस्‍तान (Pakistan) की संसद के संयुक्‍त सत्र में उन्‍होंने आम कश्‍मीरियों के संघर्ष की तुलना पहले विश्‍व युद्ध (World War-1) के दौरान तुर्की के युद्ध से कर दी थी. इस पर विदेश मंत्रालय (MEA) के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा, 'एर्दोगन के बयान से साफ है कि उन्‍हें ना तो इतिहास की जानकारी है और ना ही कूटनीतिक व्‍यवहार की समझ है.' रवीश कुमार (Raveesh Kumar) के मुताबिक, उन्‍हें इतनी भी समझ नहीं कि उनके बयान से अंकारा के साथ भारत के संबंधों पर बुरा असर पड़ेगा.

    भारत ने तुर्की के राष्‍ट्रपति एर्दोगन के बयान की निंदा की
    विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा, 'भारत सीमापार आतंकवाद (Terrorism) फैलाने वाले पाकिस्‍तान को बचाने की तुर्की की बार-बार की जा रही कोशिशों को खारिज करता है.' एर्दोगन ने शुक्रवार को पाकिस्‍तान (Pakistan) की संसद में कहा कि कश्‍मीर जितना आपके करीब है, उतना ही हमारे भी करीब है. कश्‍मीर मुद्दे पर हम पाकिस्‍तान का साथ देते रहेंगे. इसके बाद रवीश कुमार ने शनिवार को कहा था कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है. बेहतर होगा कि तुर्की के राष्ट्रपति भारत के अंदरूनी मामलों (Internal Issues) में दखल नहीं दें. वह अपनी जानकारी बढ़ाएं. उन्हें पाकिस्तान से चल रही आतंकी गतिविधियों से भारत समेत दूसरे देशों पर बढ़ रहे खतरे के बारे में सोचना चाहिए.

    News18 Hindi
    तुर्की के राष्‍ट्रपति एर्दोगन ने शुक्रवार को पाकिस्‍तान की संसद में कहा कि पाकिस्‍तान को एफएटीएफ की ग्रे लिस्‍ट से निकालने में हम मदद करेंगे.


    रवीश कुमार ने कहा- तुर्की के सभी बयान पूरी तरह गलत
    रवीश कुमार ने कहा कि भारत (India) और तुर्की (Turkey) के बीच दोस्ताना संबंध हैं. लेकिन, तुर्की की तरफ से भारत के आंतरिक मामले पर लगातार बयान आ रहे हैं. सभी बयान तथ्यात्मक रूप से गलत और पक्षपातपूर्ण हैं. तुर्की की ओर से कश्‍मीर मुद्दे पर दिए जा रहे बयान स्‍वीकार्य नहीं हैं. एर्दोगन ने एफएटीएफ (FATF) की ओर से ब्‍लैकलिस्‍ट में डाले जाने से बचाने के लिए पाकिस्‍तान को मदद देने की बात भी कही. उन्‍होंने कहा, 'मैं भी इस बात पर जोर देना चाहता हूं कि हम पाकिस्‍तान को हर समय पूरा समर्थन देंगे. हम एफएटीएफ की ग्रे लिस्‍ट से निकलने में भी पाकिस्‍तान की मदद करेंगे.'

    ये भी पढ़ें:

    CDS जनरल बिपिन रावत ने बताया- 2022 तक बन जाएगा सेना का थियेटर कमांड

    सरकार ने पहले की गई तैयारी के दम पर टिड्डियों के हमले को बढ़ने से रोका

    Tags: India pakistan, Jammu and kashmir, Ministry of External Affairs, Terrorism, Turkey

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें