भारत में सितंबर तक लॉन्च हो सकती है 'कोवोवैक्स', बच्चों पर जुलाई में ट्रायल शुरू होने की उम्मीद

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला अगर रेग्युलेटरी से अनुमति मिलती है, तो कोवोवैक्स सितंबर तक भारत में लॉन्च होने के लिए तैयार हो सकती है. (फाइल फोटो)

Vaccination in India: कंपनी ने बताया था कि NVX-CoV2373 वैक्सीन कोविड संक्रमण के मध्यम और गंभीर मामलों में 100 फीसदी सुरक्षा का प्रदर्शन किया है. उन्होंने जानकारी दी थी कि टीके की कुल प्रभावकारिता दर 90.4 प्रतिशत रही.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ भारत (India) को जल्द ही एक और टीका मिल सकता है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने उम्मीद जताई है कि नोवावैक्स की वैक्सीन कोवोवैक्स (Covovax) सितंबर तक भारत में लॉन्च की जा सकती है. फिलहाल देश में सीरम की ही कोविशील्ड, भारत बायोटेक में तैयार हुई कोवैक्सीन और रूस की स्पूतनिक V का इस्तेमाल किया जा रहा है.

    पूनावाला ने कहा है कि कोवोवैक्स के ट्रायल्स पूरे होने वाले हैं. CNBC TV18 को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि अगर रेग्युलेटरी से अनुमति मिलती है, तो कोवोवैक्स सितंबर तक भारत में लॉन्च होने के लिए तैयार हो सकती है. उन्होंने बताया कि भारत में नोवावैक्स की वैक्सीन के ट्रायल नवंबर तक पूरे किए जा सकते हैं. सितंबर 2020 में नोवावैक्स ने सीरम इंस्टीट्यूट के साथ अपनी वैक्सीन NVX-CoV2373 को लेकर उत्पादन समझौते की घोषणा की थी. सीरम के सीईओ ने जानकारी दी कि देश में ट्रायल का दौर पूरा होने से पहले भी कंपनी वैश्विक डेटा के आधार पर लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकती है.

    यह भी पढ़ें: आंकड़ों में नोवावैक्स टीका सुरक्षित और प्रभावी, भारत में SII करेगा वैक्सीन का निर्माण : सरकार

    14 जून को जारी किए गए बयान में कंपनी ने बताया था कि NVX-CoV2373 वैक्सीन ने कोविड संक्रमण के मध्यम और गंभीर मामलों में 100 फीसदी सुरक्षा का प्रदर्शन किया है. उन्होंने जानकारी दी थी कि टीके की कुल प्रभावकारिता दर 90.4 प्रतिशत रही. बयान में कहा गया था कि स्टडी में अमेरिका और मेक्सिको की 119 अलग-अलग जगहों से 29 हजार 960 लोग शामिल हुए थे. भाषा के अनुसार, हाल ही में नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने जानकारी दी थी कि नोवावैक्स के टीके का निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट में होगा.



    कंपनी ने बताया था कि उनकी वैक्सीन ने वेरिएंट्स ऑफ कन्सर्न और वेरिएंट्स ऑफ इंटरेस्ट के खिलाफ 93 फीसदी प्रभावकारिता दिखाई है. फार्मा कंपनी जुलाई तक बच्चों में कोवोवैक्स के ट्रायल पर भी विचार कर रही है. देश में वैक्सीन प्रोग्राम को शुरू हुए 150 दिन बीत चुके हैं. 16 जून सुबह 7 बजे तक के सरकारी आंकड़े बताते हैं कि देश में अब तक 26 करोड़ 19 लाख 72 हजार 14 डोज दिए जा चुके हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.