• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कोविड-19 वैक्सीन के निर्यात में दिसंबर तक आ सकती है तेजी, इन देशों को पहुंचेगी वैक्सीन की खेप

कोविड-19 वैक्सीन के निर्यात में दिसंबर तक आ सकती है तेजी, इन देशों को पहुंचेगी वैक्सीन की खेप

अधिकारी ने कहा कि भारत अपने मैत्री देशों की मदद करने के लिए जल्द ही वैक्सीन का निर्यात करेगा. (फाइल फोटो)

अधिकारी ने कहा कि भारत अपने मैत्री देशों की मदद करने के लिए जल्द ही वैक्सीन का निर्यात करेगा. (फाइल फोटो)

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के एक अधिकारी ने बताया कि फिलहाल अभी मैत्री देशों को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) निर्यात (Export) करने के लिए कोई ठोस योजना नहीं बनाई गई है. उन्होंने कहा कि एक बार जब हमारे पास पर्याप्त मात्रा में स्टॉक हो जाएगा तो हम प्राथमिकताओं के अनुसार देशों को कोविड-19 वैक्सीन निर्यात करेंगे.

  • Share this:

    नई दिल्ली: कोरोना महामारी से छुटकारा पाने के लिए देश में तेजी से वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) का काम चल रहा है. अब तक 95 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है. हर राज्य कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccine) का महाभियान चला रहा है ताकि कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा सके. इस बीच भारत दिसंबर से अपने मैत्री देशों को वैक्सीन पहुंचाने में तेजी ला सकता है.

    एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक जैसे ही भारतीय आबादी में वैक्सीन की आवश्यकता पूरी हो जाएगी और वैक्सीन का स्टॉक अधिक होगा हम दूसरे देशों को की आवश्यकता को पूरा करने के लिए निर्यात में तेजी बढ़ाएंगे.

    दिसंबर तक वैक्सीन का होगा अतिरिक्त स्टॉक
    इससे पहले यह अनुमान लगाया जा रहा था कि भारत 2021 की चौथी तिमाही में वैक्सीन के निर्यात को शुरू करने में स्थिति होगा. अधिकारी ने कहा कि हमें विश्वास है कि नवंबर दिसंबर तक हमारे पास वैक्सीन का अतिरिक्त स्टॉक होगा. उन्होंने कहा कि भारत अपने मैत्री देशों की मदद करने के लिए जल्द ही वैक्सीन का निर्यात करेगा.

    यह भी पढ़ें- स्टडी में बड़ा खुलासा, भारत में ऐसे लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा ज्यादा

    उन्होंने हमारी पहली प्राथमिकता है कि भारत के अधिकांश राज्यों में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान के पूरा होते ही दूसरे देशों के लिए निर्यात को शुरू कर देंगे. सरकार ने 7 अक्टूबर को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) को नेपाल, म्यांमार और बांग्लादेश में प्रत्येक को 10 लाख कोविशील्ड खुराक निर्यात करने की अनुमति दी थी, जबकि भारत बायोटेक मैत्री कार्यक्रम के तहत ईरान को कोवैक्सीन की 10 लाख खुराक प्रदान करेगा. इसके अलावा एसआईआई को यूनाइडेट किंगडम को थोक में कोविशील्ड वैक्सीन की आपूर्ति करने की भी अनुमति दी गई है.

    स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि फिलहाल अभी मैत्री देशों को कोरोना वैक्सीन को निर्यात करने के लिए कोई ठोस योजना नहीं बनाई गई है. उन्होंने कहा कि एक बार जब हमारे पास पर्याप्त मात्रा में स्टॉक हो जाएगा तो हम प्राथमिकताओं के अनुसार देशों को कोविड-19 वैक्सीन निर्यात करेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज