अपना शहर चुनें

States

राजनाथ बोले- मसूद अजहर को चीन ने आखिर क्यों बचाया? सबसे पहले हमें ये समझना होगा

गृहमंत्री राजनाथ सिंह
गृहमंत्री राजनाथ सिंह

यूएनएससी में मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित किए जाने का प्रस्ताव खारिज होने के बाद पहली बार किसी केंद्रीय मंत्री ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2019, 8:18 AM IST
  • Share this:
चीन ने एक बार फिर आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को 'ग्लोबल टेररिस्ट' घोषित होने से बचा लिया. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में चीन ने चौथी बार इस प्रस्ताव के विरोध में अपने वीटो पावर (Veto Power) का इस्तेमाल किया. इस प्रस्ताव के पक्ष में यूके, यूएस, फ्रांस और जर्मनी पहले से ही थे. मसूद को बचाने पर चीन को अंतराष्ट्रीय बिरादरी में आलोचना भी झेलनी पड़ रही है. इस बीच News18 को दिए एक इंटरव्यू में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, 'हमें ये समझने की जरूरत है कि चीन ने आखिर ऐसा क्यों किया?' उन्होंने कहा कि मसूद अजहर के लिए चीन ने चौथी बार वीटो पावर का इस्तेमाल किया है. भारत को चीन की मौजूदा स्थिति समझने की जरूरत है.

यूएनएससी में मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित किए जाने का प्रस्ताव खारिज होने के बाद पहली बार किसी केंद्रीय मंत्री ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया दी है. News18 से बातचीत में राजनाथ सिंह ने कहा, 'जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए चीन को समझाने की कोशिश जारी है. उन्होंने कहा, 'मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया जाना चाहिए. लेकिन, चीन ने ऐसा क्यों नहीं किया और क्यों नहीं करना चाहता है, इसके पीछे निश्चित तौर पर कोई कारण हैं. भारत को पहले ये समझने की जरूरत है.'

ये भी पढ़ें:  एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान परेशान, लेकिन यहां के कुछ नेता भी सदमें में: राजनाथ सिंह



हालांकि, गृहमंत्री ने ये भी कहा कि चीन के इस कदम से भारत निराश नहीं है. उन्होंने कहा, 'यूएनएससी में मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित होने से बचाने के लिए चीन ने जो भी रोड़ा लगाया, उससे भारत पर कोई असर नहीं पड़ता. आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई पहले की तरह जारी रहेगी.'
बता दें कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्य चीन ने पिछले 10 साल में चौथी बार अपने वीटो पावर का इस्तेमाल कर मसूद अजहर को बचाया है. मसूद अजहर मुंबई हमलों समेत भारत में कई आतंकी हमलों का मास्टर माइंड है और इन दिनों उसकी लोकेशन पाकिस्तान में है. बताया जा रहा है कि वह किडनी की बीमारी से जूझ रहा है और इतना बीमार है कि चल-फिर भी नहीं सकता.

मसूद अजहर की ढाल बनने पर चीन की सफाई, कहा- जांच के लिए चाहिए और वक्त

चीन ने संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में जैश-ए-मोहम्मद सरगना और आतंकी मसूद अजहर के लिए वीटो इस्तेमाल करने पर सफाई भी दी है. चीन ने कहा है कि जैश मुखिया मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट के तौर पर सूचीबद्ध करने के लिए उसे गहराई से जांच करने के लिए और समय चाहिए.

वहीं, पाकिस्तान के साथ आगे के रिश्तों पर राजनाथ सिंह ने कहा, 'पहले तो पाकिस्तान में जितने भी आतंकी ठिकाने हैं, वहां की सरकार द्वारा उन्हें खत्म करने की पहल की जानी चाहिए. आतंकवादी गतिविधियां वहां से न हो, किसी भी आतंकी संगठन को संरक्षण न मिले, पहले यह कोशिश की जानी चाहिए.'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज