Covid Vaccine: कई देशों को कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति करेगा भारत, स्टोरेज में भी करेगा मदद

कोरोना वैक्सीन को भारत बायोटेक और ICMR द्वारा विकसित किया जा रहा है.
कोरोना वैक्सीन को भारत बायोटेक और ICMR द्वारा विकसित किया जा रहा है.

विदेश सचिव ने कहा, वैक्सीन आपूर्ति प्राप्त करने के लिए कई देश हमसे संपर्क कर रहे हैं. भारत टीकों के वितरण के लिए अपनी कोल्ड चेन और भंडारण क्षमता बढ़ाने में इच्छुक देशों की मदद करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 10:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus vaccine) बनाने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है. सरकारी वैज्ञानिकों के मुताबिक फरवरी 2021 में देश को कोवैक्सीन (Covaxin) मिल सकती है. कोरोना वैक्सीन के बारे में जानकारी देते हुए विदेश सचिव हर्ष वी श्रृंगला (Foreign Secretary Harsh V Shringla) ने कहा, हम अपने कुछ साथी देशों के साथ कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के संचालन की संभावना तलाश रहे हैं. हम वैक्सीन के विकास के क्षेत्र में अनुसंधान सहयोग के लिए भी उत्सुक हैं.

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक श्रृंगला ने कहा, वैक्सीन आपूर्ति प्राप्त करने के लिए कई देश हमसे संपर्क कर रहे हैं. भारत टीकों के वितरण के लिए अपनी कोल्ड चेन और भंडारण क्षमता बढ़ाने में इच्छुक देशों की मदद करेगा.


फरवरी तक लॉन्च हो सकती है ‘कोवैक्सीन'
बता दें कि कोरोना वैक्सीन अगले साल फरवरी तक आ सकती है. सरकारी वैज्ञानिकों के मुताबिक फरवरी 2021 में देश को ‘कोवैक्सीन’ (Covaxin) मिल सकती है. यह वैक्सीन पूरी तरह से स्वदेशी होगी. भारत की इस तेजी को दुनिया बड़ी सफलता मान रही है.





एक वरिष्ठ सरकारी वैज्ञानिक ने कहा है, वैक्सीन के अंतिम चरण के परीक्षण इसी महीने से शुरू हो जाएंगे. कोरोना वायरस टास्क फोर्स के सदस्य व आईसीएमआर वैज्ञानिक रजनी कांत ने कहा, अब तक की तमाम रिसर्च से पता चला है कि वैक्सीन सुरक्षित है और प्रभावी है. उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत में फरवरी या मार्च तक वैक्सीन मिल जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज